प्रज्ञान ओझा ने क्रिकेट के सभी प्रारुप से लिया संन्यास

नई दिल्ली। भारत के बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज प्रज्ञान ओझा ने शुक्रवार को क्रिकेट के सभी प्रारुपों से संन्यास लेने की घोषणा कर दी। ओझा ने 2008 में एशिया कप में बंगलादेश के खिलाफ वनडे में अपना पदार्पण किया था।

उन्होंने 2009 में बांग्लादेश के खिलाफ ही टी-20 में अपना अंतरराष्ट्रीय पदार्पण किया था और श्रीलंका के खिलाफ नवंबर 2013 में अपना पहला अंतरराष्ट्रीय टेस्ट मैच खेला था। ओझा ने ट्विटर पर अपने संन्यास लेने की घोषणा करते हुए कहा कि भारत की तरफ से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेलना हर खिलाड़ी का सपना होता है। मैंने अपने करियर में कई उतार चढ़ाव देखे।

अपने इस करियर में मैंने अनुभव किया कि एक खिलाड़ी के लिए सिर्फ मेहनत और लगन की सबकुछ नहीं होती बल्कि टीम प्रबंधन, टीम के खिलाड़ी, कोच, ट्रेनर और दर्शकों का विश्वास तथा मार्गदर्शन भी बेहद जरुरी होता है।

33 वर्षीय खिलाड़ी ने कहा कि मैं वीवीएस लक्ष्मण का आभारी हूं जिन्होंने बड़े भाई की तरह हमेशा मेरा मार्गदर्शन किया। मैं वेंकटपति राजू को धन्यवाद देता हूं जो मेरे रोल मॉडल रहे। मैं हरभजन सिंह का भी शुक्रिया अदा करना चाहता हूं जो वक्त-वक्त पर मुझे सलाह देते थे।