अजमेर दरगाह में 21000 चिराग रोशन कर की कोरोना मुक्ति की दुआ

अजमेर। राजस्थान में अजमेर स्थित सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह में रविवार रात आस्ताना शरीफ बंद हो जाने के बाद चिराग रोशन कर कोरोना संक्रमण मुक्ति की दुआ की गई।

चिश्तिया सूफी मिशन सोसायटी की ओर से 21 हजार दीये जलाकर चिराग रोशन किया गया। दरगाह परिसर के विभिन्न हिस्सों में रात 10:30 बजे के बाद इतनी बड़ी संख्या में दीये जलाए और पूरे विश्व में कोरोना महामारी से जल्द मुक्ति की ख्वाजा गरीब नवाज के आस्ताने पर दुआ की गई। दीये दरगाह के निजामगेट से बुलंद दरवाजे, शाहजहांनी दरवाजे, क्वीज मैरिज हौज, संदलखाना गेट, बेगमी दलान, सहन चिराग आदि में जमीन पर रखकर जलाए गए।

उल्लेखनीय है कि चिश्तिया सूफी मिशन सोसायटी के यासीर गुर्देजी ने 21 हजार चिराग रोशन किए जाने का कार्यक्रम ख्वाजा साहब के गुरु के उर्स के तहत ‘जश्ने ख्वाजा उस्मान हारूनी’ के मौके पर गत 30 मई को किया जाना प्रस्तावित किया था लेकिन उस दिन दरगाह कमेटी के नाजिम शकील अहमद की मंजूरी नहीं होने से चिराग रोशन का कार्यक्रम नहीं हो सका।