इंदौर संभाग में विधानसभा निर्वाचन की तैयारी पूर्णता की ओर

इंदौर 20 नवंबर :- मध्यप्रदेश के इंदौर संभाग के सभी 8 जिलों में विधानसभा निर्वाचन 2018 की तैयारी पूर्णता की ओर है।
संभागीय निर्वाचन कार्यालय से प्राप्त जानकारी अनुसार इंदौर संभाग में कुल 11287 मतदान केन्द्र हैं। इनमें से 283 मतदान केंद्र वल्नरेबल और 1794 मतदान केंद्र क्रिटिकल चिन्हित किए गए हैं। इन मतदान केंद्रों में से 880 मतदान केंद्रों में वेबकास्टिंग की जाएगी। कुल 834 मतदान केंद्र सीसीटीवी की निगरानी में रहेंगे। संभाग में 487 मतदान केंद्र आदर्श मतदान केंद्र बनाए गए हैं। संभाग में 885 मतदान केंद्र ऐसे हैं, जो पूरी तरह महिला मतदान कर्मियों द्वारा संचालित रहेंगे।

संभाग में 30मतदान केंद्र ऐसे रहेंगे, जहां पर दिव्यांग मतदान कर्मी चुनाव की व्यवस्था संभालेंगे।
इंदौर जिले में कुल 3116 मतदान केंद्र हैं। इनमें से 143मतदान केंद्र वल्नरेबल और 414 मतदान केंद्र क्रिटिकल चिन्हित किए गए हैं। इन मतदान केंद्रों में से 80 मतदान केंद्रों में वेबकास्टिंग की जाएगी। कुल 148 मतदान केंद्र सीसीटीवी की निगरानी में रहेंगे। इंदौर जिले में 90 मतदान केंद्र आदर्श मतदान केंद्र बनाए गए हैं। जिले में 687 मतदान केंद्र ऐसे हैं, जो पूरी तरह महिला मतदान कर्मियों द्वारा संचालित रहेंगे।

इंदौर जिले में 9मतदान केंद्र ऐसे रहेंगे, जहां पर दिव्यांग मतदान कर्मी चुनाव की व्यवस्था संभालेंगे।
धार जिले में कुल 973 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। यहां 12वल्नरेबल और 163 मतदान केंद्रों को क्रिटिकल चिन्हित किया गया है। धार जिले में कुल 98 मतदान केंद्रों में वेबकास्टिंग की जाएगी और कुल 12 मतदान केंद्र सीसीटीवी कवरेज के दायरे में रहेंगे। धार जिले में 6 मतदान केंद्रों को बतौर आदर्श मतदान केंद्र चयनित किया गया है। जिले में कुल 13 मतदान केंद्र ऐसे रहेंगे, जहां पर सभी मतदान कर्मी महिलाएं होंगी। वहीं 5 मतदान केंद्र ऐसे रहेंगे, जहां पर दिव्यांग मतदान कर्मी व्यवस्थाएं संभालेंगे।

झाबुआ जिले में कुल 1921 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। यहां 89 मतदान केंद्र वल्नरेबल और 399 मतदान केंद्र क्रिटिकल की श्रेणी में है। जिले में 193 मतदान केंद्रों में वेबकास्टिंग की जाएगी और 193 मतदान केंद्रों में सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं। जिले में 56 मतदान केंद्रों को आदर्श मतदान केंद्र बनाया गया है। कुल 55 मतदान केंद्र ऐसे रहेंगे, जहां पर मतदान कर्मी महिलाएं होंगी और 5 मतदान केंद्र ऐसे रहेंगे, जहां पर मतदान कर्मी दिव्यांगजन रहेंगे।