आईपीएल फॉर्मेट रेसिंग लीग लाने की तैयारी: आलीशा अब्दुल्लाह

Preparations for the IPL format racing league: Alisha Abdullah
Preparations for the IPL format racing league: Alisha Abdullah

नयी दिल्ली । भारत की पहली महिला रेसिंग चैंपियन आलीशा अब्दुल्लाह देश में आईपीएल फॉर्मेट रेसिंग लीग लाने की तैयारी कर रही हैं और इसे वह इस साल दिसम्बर में लांच कर देंगी।

आलीशा ने सोमवार को यहां नंदन पेट्रोकैम लिमिटेड (एनपीएल) के प्रमुख ब्रांड वेल्वेक्स का ब्रांड अम्बेसेडर बनने के बाद कहा कि वह दिसम्बर में आईपीएल फॉर्मेट की रेसिंग लीग लाने जा रही हैं और इसकी शुरुआत वह तमिलनाडु से करेंगी क्योंकि वह खुद तमिलनाडु से हैं।

भारतीय रेसिंग सर्किट में जाना माना नाम आलीशा ने कहा, “इस वर्ष हम दिसम्बर में आईपीएल फॉर्मेट में रेसिंग लीग शुरू करेंगे और अगले वर्ष इसे उत्तर भारत में ले जाएंगे जहां इसका आयोजन नोयडा के फार्मूला वन बुद्ध सर्किट में होगा।”

आलीशा ने कहा, “मेरा लक्ष्य देश में महिला रेसर तैयार करना है। साथ ही हम रेसिंग को एक खेल के तौर पर मान्यता दिलाना चाहते हैं क्योंकि रेसिंग को भारत में एक खेल के तौर पर मान्यता नहीं है और इसे मनोरंजन के तौर पर देखा जाता है।”

महिला रेसर तैयार करने की अपनी प्रतिबद्धता जताते हुए आलीशा ने कहा, “मेरी चेन्नई में अपनी रेसिंग अकादमी है जहां मेरा लक्ष्य विश्व स्तरीय रेसर तैयार करना है। यह अकादमी मैंने अपने खर्चे से तैयार की है। हम देश भर से अच्छे महिला रेसर तलाश रहे हैं जिन्हें फिर इस अकादमी में तराश कर विश्व स्तरीय बनाया जा सके। मैं यह काम निःशुल्क कर रही हूं और इस अकादमी तथा रेसिंग लीग की योजना में मुझे वेल्वेक्स का पूरा सहयोग मिल रहा है। मैं यह दिखाना चाहती हूं कि भारत में भी अच्छी महिला रेसर हैं।”

नंदन पेट्रोकैम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक नंदन एस अग्रवाल ने इस अवसर पर कहा, “हम विश्व स्तरीय रेसर तैयार करने के उद्देश्य से आलीशा की अकादमी को पूरा सहयोग देंगे। हमने उन्हें ब्रांड अम्बेसेडर इसी सोच के साथ बनाया है कि उन्होंने अपने जीवन में तमाम मुश्किलों पर जीत हासिल कर यह मुकाम पाया है। आलीशा के साथ जुड़ने से हमारा मोटरस्पोर्ट्स के साथ भी जुड़ाव बढ़ेगा।”

मात्र आठ साल की उम्र से रेसिंग शुरू करने वाली और 18 साल कार तथा बाइक रेसिंग में गुजार चुकी आलीशा ने कहा, “रेसिंग आम तौर पर पुरुषों के दबदबे वाला खेल है और वास्तव में यह एक मुश्किल खेल है लेकिन मेरे पिता ने मुझे रेसिंग में आगे आने के लिए प्रोत्साहित किया जो खुद भी सात बार के राष्ट्रीय चैंपियन थे। मैं वेल्वेक्स का भी धन्यवाद करती हूं जिसने मुझे ब्रांड अम्बेसेडर के तौर पर चुना।”