वाराणसी फ्लाईओवर हादसे पर कोविंद, मोदी ने जताया दुख

President Kovind and PM Modi express grief over loss of lives in Varanasi flyover accident

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को वाराणसी में कैंट रेलवे स्टेशन के निकट एक निर्माणाधीन फ्लाईओवर का पिलर गिरने के कारण लोगों के हताहत होने पर दुख जताया है।

मोदी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बात कर स्थिति की जानकारी ली है। इस हादसे में 35 लाेगों के हताहत होने की आशंका जताई गई है। राष्ट्रपति ने ट्वीट करके कहा है कि वाराणसी में निर्माणाधीन फ्लाईओवर हादसे की जानकारी मिलने से काफी दुख पहुंचा है। हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों के प्रति मेरी हार्दिक संवदेना है। स्थानीय प्रशासन सभी प्रभावित लोगों की मदद और राहत कार्यों में जुट गया है।

मोदी ने अपने टि्वटर संदेश में कहा है कि वाराणसी में निर्माणाधीन फ्लाईओवर पर हुए हादसे के बारे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से जानकारी ली है। उत्तर प्रदेश सरकार स्थिति पर करीबी नजर रखे हुए है और प्रभावितों को सहायता पहुंचाने का काम किया जा रहा है।

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि वाराणसी में हुए इस हादसे में लोगों की जान जाने से मैं बहुत दुखी हूं। मैं प्रार्थना करता हूं कि घायल लोग जल्द स्वस्थ हों। मैंने अधिकारियों से भी बात की है और उनसे प्रभावित लोगों को हर संभव मदद पहुंचाने को कहा है।

उल्लेखनीय है कि वाराणसी मोदी का संसदीय क्षेत्र है और वहां कैंट रेलवे स्टेशन के निकट एक निर्माणाधीन फ्लाईओवर का पिलर गिरने से कई राहगीर और वाहन दब गए। इस हादसे में कम से कम 35 लोगों के हताहत होने की आशंका है।

केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी वाराणसी प्रशासन के अधिकारियों से बात करके स्थिति का जायजा लिया है। राहत बचाव अभियान में मदद के लिए आपदा मोचन बल की टीमों को रवाना किया गया है। सिंह ने भी हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट की है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी घटना पर दुख जताया है और जिला प्रशासन को तेजी से बचाव कार्य में जुटकर लोगों की हरसंभव मदद करने के निर्देश दिए हैं। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य वाराणसी के लिए रवाना हो गए हैं।

वाराणसी में निर्माणाधीन फ्लाईओवर गिरा, 35 लोगों के दबने की आशंका