पश्चिम बंगाल की ‘कपटी’ सरकार को नियंत्रित करने के लिए लागू हो राष्ट्रपति शासन: सांसद बाबुल सुप्रियो

President's rule to be implemented in West Bengal's 'crafty' government: MP Babul Supriyo
President’s rule to be implemented in West Bengal’s ‘crafty’ government: MP Babul Supriyo

कोलकाता । केंद्रीय मंत्री एवं आसनसोल से भारती जनता पार्टी (भाजपा) सांसद बाबुल सुप्रियो ने कहा है कि पश्चिम बंगाल की ‘कपटी’ सरकार को नियंत्रित करने के लिए राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करना चाहिए।

प्रसाद ने राज्य की मौजूदा स्थिति को ममता बनर्जी द्वारा ‘अपने भ्रष्ट और दागी साथियों का ढाल बनाने’ के लिए बनाया गया संवैधानिक संकट करार देते हुए ट्विटर पर कहा, “एक भ्रष्ट मुख्यमंत्री की नेतृत्व वाली ‘कपटी’ सरकार को नियंत्रित करने के लिए पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लागू कर देना चाहिए।

बंगाल में क्या हो रहा है? केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) अधिकारियों को गिरफ्तार किया गया। रैलियों की अनुमति देने से इंकार की गयी। अमित शाह के हेलिकॉप्टर को नहीं उतरने दिया गया। उनकी (सुश्री बनर्जी) पार्टी के ‘गुंडे’ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के समर्थकों की हत्या कर रहे हैं। संघीय ढांचे का अपमान किया जा रहा है। हम पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लागू करने की मांग करते हैं।”

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, “लालू प्रसाद यादव बनर्जी को फोन करते हैं और कहते हैं कि ‘हम आपके साथ हैं’ उनका कहने का मतलब है दीदी डरो मत भ्रष्टाचार के आरोप में आप अकेले जेल में नहीं रहेंगी हम आपके साथ रहेंगे।” प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष सुश्री बनर्जी पर चिटफड घोटाले की जांच में बाधा डालने का आरोप लगाया और कहा कि वह दोषियों को बचाने की कोशिश कर रही हैं। घोष ने ट्वीट कर कहा, “पश्चिम बंगाल में न लोकतंत्र और न संविधान यहां तक की सीबीआई भी सुरक्षित नहीं है।”