सत्ता में आने के बाद गरीबों का कल्याण किया : मोदी

मनामा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि उनकी सरकार ने सत्ता में आने के बाद गरीब वर्ग का कल्याण करने की दिशा में ऐसे परिवारों के लिए घर बनवाए तथा गरीबों तक बुनियादी सुविधा पहुंचाने का बीड़ा उठाया और आयुष्मान भारत योजना के तहत 50 करोड़ भारतीय को पांच लाख तक का मुफ्त इलाज कराने की सुविधा उपलब्ध कराई है।

मोदी ने यहां शनिवार को नेशनल स्टेडियम में भारतीय समुदाय के लोगों को जन्माष्टमी की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि कहा कि दुनिया में सबसे सस्ता डाटा भारत में है और देश वासियों ने उन्हें दोबारा सेवा का मौका दिया है इसलिए उनकी सरकार के लक्ष्य ऊंचे हैं। सरकार नए-नए संकल्प सिद्ध करने में जुटी है। भारत में आज बदलाव महसूस किया जा रहा है। गरीब से गरीब को हर सुविधा दी जा रही है और करोड़ों भारतीयों की भागीदारी से देश आगे बढ़ रहा है।

मोदी ने कहा हमने जीडीपी को पांच खरब डालर करने का लक्ष्य रखा है और जब अर्थव्यवस्था दोगुनी होगी, तो आय भी दोगुनी होगी। सरकार ने देश के करोड़ों परिवारों तक मूलभूत सुविधाएं पहुंचाई है और अन्य शेष लक्ष्य पाने के लिए नींव रखी जा चुकी है। आज सरकार की नीतियों के कारण भारत में निवेश का अभूतपूर्व माहौल है। बहरीन के दोस्त भी सुविधा का लाभ उठाने के लिए उत्सुक होंगे।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज रिकॉर्ड स्तर पर भारत में निवेश आ रहे हैं। डिजिटल लेने-देन की चर्चा दुनियाभर में है और हर रैंकिंग में भारत आज सुधार कर रहा है। भारत में आज हर तरफ विकास का जाल बिछ रहा है। नये लक्ष्य को पाने की क्षमता भी है और मेहनत भी की जा रही है। गांवों में ब्रॉड बैंड सुविधा देने पर तेजी से काम हो रहा है। भारत वन नेशन वन कार्ड की तरफ बढ़ रहा है। पांच साल में मजबूत नींव बनाई जा चुकी हैं।

मोदी ने कहा कि मैं आपके प्यार के सामने नतमस्तक हूं। मैं बहरीन के खलीफा, प्रधानमंत्री और यहां की सरकार का आभार व्यक्त करता हूं। मुझे एहसास है कि भारत के प्रधानमंत्रियों को बहरीन पहुंचने में कुछ ज्यादा ही समय लग गया। लेकिन यहां आने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री होने का सौभाग्य मुझे मिला। बहरीन के लाखों दोस्तों से संवाद का मौका मिला। मेरा प्रयास पांच हजार साल पुराने रिश्तों को 21वीं सदी की ताजगी और आधुनिकता देना है।

मोदी ने कहा कि जब भी मैं यहां की सरकार, भारतीय साथियों, यहां के बिजनेस से जुड़े साथियों से, यहां बसे, यहां काम करने वाले साथियों की प्रशंसा सुनता हूं तो हृदय प्रसन्नता से भर जाता है। भारतीयों की ईमानदारी, निष्ठा, कर्मशीलता और यहां के सामाजिक आर्थिक जीवन में आपके योगदान को लेकर यहां अपार सदभावना है। आपने अपनी मेहनत से यहां अपने लिए जगह बनाई है। इस ख्याति को हमें और मजबूत करना है।

उन्होेंने कहा कि जब आप भारत में अपने परिवार के सदस्यों से बात करते हैं, तो वे आपको बताते हैं कि वे बदलाव महसूस करते हैं। क्या आप भारत में बदलाव महसूस करते हैं? क्या आप भारत के रवैये में बदलाव देखते हैं? भारत का आत्मविश्वास बढ़ा है या नहीं? हमारे लक्ष्य ऊंचे हैं, लेकिन जब आपके पास 130 करोड़ लोगों की भुजाएं हों तो हौसला मिल जाता है। भारत आज आगे बढ़ रहा है तो सिर्फ सरकार की कोशिशों से नहीं, बल्कि करोड़ों भारतीयों की भागीदारी से आगे बढ़ रहा है। सरकार सिर्फ स्टियरिंग पर बैठी है, एक्सीलेटर देश की जनता दबा रही है।

उन्होंने कहा कि आप सभी जानते हैं कि सात सितंबर को भारत का ‘चंद्रयान’ चंद्रमा की सतह पर उतरने वाला है। पूरी दुनिया आज भारत के अंतरिक्ष अभियानों पर चर्चा कर रही है। दुनिया हैरान है कि हम केवल अपने कौशल का उपयोग करते हुए इतने कम बजट में इन परिणामों को कैसे हासिल कर सकते हैं।

मोदी ने कहा कि पिछले पांच साल में हमारी कोशिश रही है कि देश के 130 करोड़ भारतीयों के साथ ही विदेश में रहने वाले करोड़ों भारतीयों का सिर हमेशा ऊंचा रहे। आज अगर भारत को दुनिया सम्मान की नजर से देखती है तो उसके पीछे का एक बड़ा कारण आप जैसे लाखों साथी हैं। मेरा आपसे भी आग्रह रहेगा कि आप भी अपने स्तर पर कुछ नए संकल्प लेकर चलें। आप तय करें कि हर व्यक्ति, हर वर्ष अपने कुछ बहरीनी दोस्तों को भारत घूमने के लिए प्रेरित करेंगे। भारत के खूबसूरत हिल स्टेशन्स से लेकर समृद्ध आध्यात्मिक और सांस्कृतिक धरोहर के दर्शन कराएंगे।