नवाब नगरी में चला प्रियंका वाड्रा का जादू, जाम ने किया हाल बेहाल

लखनऊ। उत्तर प्रदेश कांग्रेस में जान फूंकने सोमवार को नवाब नगरी पहुंची पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा का जादू सिर चढ़ कर बोला। महासचिव के तौर पर सक्रिय राजनीति में कदम रखने वाली प्रियंका का इस्तकबाल लखनऊ के बाशिंदो ने गर्मजोशी से किया हालांकि रोड शो के कारण जमा भीड़ और रूट डायवर्जन के चलते यातायात व्यवस्था अस्त व्यस्त हो गई।

चौधरी चरण सिंह हवाई अड्डे पर अपरान्ह 12:45 बजे पहुंची प्रियंका के स्वागत के लिए प्रदेश कांग्रेस का आम से लेकर खास कार्यकर्ता सुबह आठ बजे से ही पलक पावंड़े बिछाए खड़े थे। कांग्रेस नेत्री की एक झलक पाने को बेकरार कार्यकर्ताओं की भीड़ को नियंत्रित करने के लिए सुरक्षा बलों को खासी मशक्कत करनी पड़ी।

चेहरे पर चिरपरिचित मुस्कान के साथ प्रियंका ने हवाई अड्डे पर मौजूद नेताओं और कार्यकर्ताओं का अभिवादन स्वीकार किया जिसके बाद वह अपने भाई एवं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ रोड शो के लिए तैयार वाहन की छत पर सवार हो गईं।

अमौसी से पार्टी के प्रदेश मुख्यालय के बीच 14 किमी के निर्धारित रूट के दोनों तरफ पार्टी समर्थक ढोल ताशों के साथ तड़के से ही सड़क के दोनों ओर जमा थे। वहीं पुलिस ने कांग्रेस के रोड शो के चलते सुबह 10 बजे से कई स्थानो पर मार्ग परिवर्तन कर दिया जिसके चलते दफ्तर और अन्य व्यवसायिक स्थलों पर जाने वाले पेशेवरों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा।

कानपुर से आने वाले वाहनों को सरोजनी नगर से डायवर्ट कर दिया गया था जबकि हरदोई और फैजाबाद से आलमबाग की ओर आने वाले वाहनो का भी रूट डायवर्जन किया गया था। रोड शो में शामिल वाहनो के गुजरने के बाद कई मार्गो पर भीषण जाम लग गया जिसे सामान्य करने में पुलिसकर्मियों के पसीने छूट गए।

रोड शो के लिए निर्धारित रूट पर प्रियंका वाड्रा और राहुल गांधी के पोस्टरों बैनरों की बाढ़ देखने को मिली। हर नेता और कार्यकर्ता ने अपनी तस्वीर लगे पोस्टर इस तरह लगाए थे कि शायद वाड्रा की नजर उस पर पड़ जाए और लोकसभा चुनाव के लिए उसका भविष्य संवर जाए।

उधर, स्वागत से अभिभूत वाड्रा ने हाथ हिला हिला कर जनसमुदाय का अभिवादन स्वीकार कर रही थीं वहीं जोश में भरे कार्यकर्ता नारेबाजी कर नेताओं की हौसलाफजाई में जुटे थे। रोड शो के दौरान कांग्रेसी नेताओं ने अपने हाथ में राफेल युद्धक विमान की प्रतीतात्मक तस्वीर को ले रखा था जिसके जरिये वे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर प्रहार करने से भी नहीं चूक रहे थे।

प्रियंका वाड्रा की लोकप्रियता इस कदर हावी थी कि कार्यकर्ताओं की भीड़ पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी और पूर्वी उत्तर प्रदेश के लिए एक अन्य महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया के नारे लगाने के बजाये सिर्फ प्रियंका वाड्रा की हौसलाफजाई कर रही थी। मंथर गति से चलते कांग्रेसी नेताओं के काफिले पर कई स्थानों पर पुष्प वर्षा की गई। कई चौराहों को आकर्षक तोरण द्वार से सजाया गया था।