बेनी माधव शुक्ला का पार्थिव शरीर पंचतत्व में विलीन

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चुनाव की प्रस्तावक रही डॉ अन्नपूर्णा शुक्ला के पति एवं गोरखपुर विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो बेनी माधव शुक्ला का निधन हो गया। वह 98 साल के थे। उनका अंतिम संस्कार यहां राजा हरिश्चन्द्र घाट पर कर दिया गया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रो शुक्ल ने निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। उन्होने ट्वीट किया कि गोरखपुर विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति एवं बीएचयू के रसायन विभाग के पूर्व अध्यक्ष प्रो बेनी माधव शुक्ल जी के निधन का दुःखद समाचार प्राप्त हुआ। प्रभु श्रीराम से प्रार्थना है कि दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान दें एवं परिजनों को इस आघात को सहन करने की शक्ति प्रदान करें।

प्रो शुक्ल के परिजनों ने बताया कि उनका अंतिम संस्कार राजा हरिशचंद्र घाट पर कर दिया गया। प्रो शुक्ला ने शनिवार रात लंका क्षेत्र के नंदनगर कॉलोनी स्थित अपने निजी निवास पर अंतिम सांस ली।

उन्होंने बताया कि प्रो शुक्ला की मृत्यु की खबर मिलते ही उनके अनेक नाते-रिश्तेदारों एवं परिवारिवारिक मित्रों ने रविवार सुबह उनके निवास पर आकर अपनी श्रद्धांजलि दी। बाद में बहुत से लोग उनकी अंतिम यात्रा में भी शामिल हुए।

प्रो शुक्ला ने काशी हिंदू विश्वविद्यालय के रसायन विभाग में प्रोफेसर के तौर पर अपनी सेवाएं दी थीं। उनकी पत्नी एवं इसी विश्वविद्यालय में महिला महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ अन्नपूर्णा शुक्ला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वाराणसी संसदीय चुनाव की प्रस्तावक रह चुकी हैं।