बांग्लादेशी आतंकवादियों की पुलिस रिमांड दस दिन और बढ़ी

पटना। बिहार की राजधानी पटना की विशेष अदालत ने पुलवामा आतंकी हमले के बाद जम्मू कश्मीर में सुरक्षा बलों की तैनाती से संबंधित दस्तावेजों के साथ गिरफ्तार कर जेल भेजे गए दो बांग्लादेशी आतंकवादियों की हिरासती पूछताछ के लिए पुलिस रिमांड की अवधि आज दस दिन और बढ़ा दी।

आतंकवादी निरोधक दस्ते की विशेष न्यायाधीश साची मिश्रा के आवासीय कार्यालय पर आज देर शाम एटीएस के अधिकारियों ने दो दिन की हिरासती पूछताछ के बाद बांग्लादेशी आतंकवादियों को पेश करने के साथ ही पुलिस रिमांड की अवधि 15 दिन और बढ़ाने की प्रार्थना की थी।

अदालत ने एटीएस की प्रार्थना आंशिक रूप से स्वीकार करते हुए दोनों आतंकवादियों खैरुल मंडल और अबू सुल्तान से हिरासती पूछताछ के लिए पुलिस रिमांड की अवधि दस दिन और बढ़ा दी।

इससे पूर्व 27 मार्च 2019 को एसटीएस के विशेष प्रभारी न्यायाधीश ओमप्रकाश की अदालत में आवेदन दाखिल कर एटीएस, पटना ने दोनों बांग्लादेशी आतंकवादियों से हिरासती पूछताछ के लिए 15 दिनों की पुलिस रिमांड पर सौंपे जाने की प्रार्थना की थी।

आवेदन पर सुनवाई के बाद विशेष अदालत ने केवल दो दिनों की पुलिस रिमांड की अनुमति दी थी। आतंकवादियों की दो दिनों की पुलिस रिमांड की अवधि आज समाप्त हो रही है।

दूसरी ओर दोनों आतंकवादियों की निशानदेही पर महाराष्ट्र के पुणे से गिरफ्तार किये गये शरीयत मंडल को भी एटीएस ने विशेष न्यायालय के समक्ष पेश करते हुए हिरासती पूछताछ के लिए 15 दिनों की पुलिस रिमांड पर सौंपे जाने की प्रार्थना की थी। अदालत ने शरीयत मंडल को न्यायिक हिरासत में लेते हुए जेल भेजने का आदेश दिया। पुलिस रिमांड के आवेदन पर सुनवाई 30 मार्च 2019 को होगी।

गौरतलब है कि इस वर्ष 24 मार्च 2019 को एटीएस, पटना ने गुप्त सूचना के आधार पर पटना जंक्शन स्थित मदनी मुसाफिरखाना के नजदीक से दो संदिग्ध युवकों को गिरफ्तार किया था। पूछताछ में पता चला कि दोनों युवक खैरुल मंडल और अबू सुल्तान बांग्लादेशी नागरिक हैं और वहां के प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन जमीयत-उल- मुजाहिदीन, बांग्लादेश और इस्लामिक स्टेट बांग्लादेश के सक्रिय सदस्य हैं।

आतंकवादियों के पास से पुलवामा आतंकी हमले के बाद जम्मू कश्मीर में अर्द्धसैनिक बलों की प्रतिनियुक्ति से संबंधित आदेशों की छायाप्रति, आईएसआईएस एवं अन्य आतंकवादी संगठनों के पोस्टर और पैम्पलेट की छायाप्रति, दो फर्जी भारतीय मतदाता पहचान पत्र, एक पैनकार्ड, नई दिल्ली से हावाड़ा और गया से पटना तथा कोलकाता से गया की ट्रेन टिकट, तीन मोबाइल फोन और मेमोरी कार्ड बरामद की गई थी।

वहीं, महाराष्ट्र एटीएस ने गुरुवार को पुणे और पिंपरी चिंचवाड़ से सटे चाकण इलाके से आतंकवादी शरीयत मंडल को गिरफ्तार किया। इसके बाद एटीएस ने शरीअत को आज पुणे की एक अदालत में पेश किया। पेशी के बाद उसे बिहार एटीएस को 48 घंटे की ट्रांजिट रिमांड पर सौंप दिया गया।