राहुल गांधी की मुहीम के अगवा बनकर अजमेर आए नवजोत सिद्धू

अजमेर। पंजाब के केबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू रविवार को भारतीय युवा कांग्रेस की मुहीम के तहत रविवार को अजमेर पहुंचे। उन्होंने आॅल सेंट स्कूल में छात्र छात्राओं से मुलाकात कर उनके विचारों को सुना तथा सवालों के जवाब दिए।

सिद्धू ने बताया कि इस अभियान के तहत कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की सोच, उनकी मुहीम को आम जन के बीच ले जा रहे हैं। इसमें भारत के युवाओं को अपनी बात करने का मौका मिलता है। वे नेताओं से सवाल कर सकते हैं, उनसे जवाब मांग सकते हैं।

इस अभियान की शुरुआत पंजाब से हुई और अब राजस्थान पहुंची है। अब युवा अपने मन की बात बोलते हैं और नेता सुनते हैं। सिद्धू ने कहा कि किसी की सोच और विचार को जोर जबरदस्ती से नहीं बदला जा सकता, उसके लिए विचारों को आदान प्रदान ही बेहतर जरिए है।

सृष्टि को बदलना है तो दृष्टि को बदलना होगा। राहुल गांधी भी यही चाहते हैं। भारत का युवा एक आइकॅन है। राहुल युवाओं की इच्छाओं को पंख लगाना चाहते हैं और हम पंखुडियां बनकर उनके इस मकसद को अंजाम तक पहुंचाने की कोशिश में जुटे हैं। सियासत में सोच ऐसी होनी चाहिए जो लोगों की जिंदगी को बना दे।

भारत-पाकिस्तान के हालात सुुधरेंगे

एक सवाल के जवाब में सिद्धू ने विश्वास जताया है कि भारत-पाकिस्तान के हालात जल्दी सुधरेंगे। उन्होंने दोनों देशों के सम्बंधों में सुधार आने की बात करते हुए अपने पाकिस्तान जाने को जायज ठहराया। उन्होंने पाकिस्तान प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ अपने 22 साल पुराने क्रिकेट के सम्बंधों का जिक्र करते हुए कहा कि मैंने इस व्यक्ति को संघर्ष करते देखा है और दोनों देशों के बीच अमनो अमान और मोहब्बत का पैगाम रिश्तों में सुधार का रास्ता निकालेगा।
उन्होंने किसी इंसान की सोच को विचारों से बदलने की बात करते कहा कि पंजाब में सोच से सोच की लड़ाई अभियान चलाया जा रहा है जिसके जरिये आज का युवा सकारात्मक सोच के साथ कई ऊचाईयों को छू सकता है।