पंजाबियों की देशभक्ति पर न उठाए कोई उंगली : चरणजीत चन्नी

माछीवाड़ा साहिब। पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा है कि पंजाबियों ने कभी देश के लिए बलिदान करने में झिझक नहीं दिखाई। पंजाब तथा पंजााबियों की देशभक्ति पर किसी को उंगली उठाने का हक नहीं हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कल फिऱोज़पुर में बिना संबोधन किए वापस चले जाने की घटना का हवाला देते हुए चन्नी ने आज दाना मंडी में कहा कि वास्तविकता यह है कि रैली वाली जगह पर केवल 700 लोग ही पहुंचे थे, जिसने प्रधानमंत्री को अपने कदम पीछे खींचने को ममजबूर किया और बाद में प्रधानमंत्री की सुरक्षा को खतरे का बहाना लगाते हुए दोष पंजाब सरकार पर मढ़ दिया गया।

चन्नी ने कहा कि सच्चाई यह है कि प्रधानमंत्री की निर्धारित रैली से पांच दिन पहले, स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (एसपीजी) ने लैंडिंग स्पॉट, रैली वाली जगह और हरेक सुरक्षा विवरण ले लिए थे लेकिन बाद में प्रधानमंत्री के काफि़ले ने अचानक सड़क मार्ग से जाने का फैसला किया जो एसपीजी द्वारा क्लियर किया गया था।

उन्होंने दोहराया कि यदि प्रधानमंत्री को कोई ख़तरा है तो हर पंजाबी देशभक्त होने के नाते अपना खून बहाने और गोलियों का सामना करने के लिए तैयार है। पंजाबी पहले भी देश की शान और मर्यादा की बहाली के लिए कुर्बानी करते आए हैं।

मुख्यमंत्री ने पंजाब विरोधी ताकतों को राज्य को बदनाम करना बंद करने के लिए कहा और उनसे सवाल किया कि प्रधानमंत्री के आसपास ख़ुफिय़ा तंत्र क्या कर रहा है, क्या उन्होंने प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए किसी भी तरह की खतरे की संभावना महसूस की थी।

चन्नी ने पंजाब विरोधी ताकतों को बदले की भावना वाली राजनीति से दूर रहने के लिए कहा और इस बात पर विचार करने की सलाह दी कि लोग, ख़ासकर किसान, उनको क्यों पसंद नहीं करते।

इससे पहले उन्होंने ऐतिहासिक गुरुद्वारा चरण कंवल साहिब माछीवाड़ा साहिब में मत्था टेका और वहां रुमाला साहिब भी भेंट किया। उनको हैड ग्रंथी हरपाल सिंह और मैनेजर सरबदयाल सिंह द्वारा सिरोपाओ देकर सम्मानित किया गया। उनको श्री गुरु गोबिन्द सिंह जी की एक पेंटिंग भी दी गई, जिसमें गुरू साहिब जी को ऐतिहासिक जंड साहिब के नीचे ‘माछीवाड़ा दा जंगल’ में विश्राम करते हुए चित्रित किया गया है।

मुख्यमंत्री ने नेशनल कॉलेज फॉर वुमैन (माछीवाड़ा) को सरकारी कॉलेज फॉर वुमैन के तौर पर अपनाए जाने के बाद संभाले जाने का औपचारिक उद्घाटन भी किया।

उन्होंने कहा कि सरकार हरेक युवक के बैंक खाते में जल्द ही 2000 रुपए प्रति माह देगी। उन्होंने पेट्रोल और डीज़ल की कीमतों में क्रमवार 10 रुपए और 5 रुपए की कटौती, घरेलू उपभोक्ताओं के लिए बिजली दरों में 3 रुपए प्रति यूनिट की कटौती, पानी की आपूर्ति की दरों को घटाकर 50 रुपए पर लाने, गौशालाओं के 19 करोड़ रुपए के बिजली बिलों को माफ करने, 52000 आंगनवाड़ी वर्करों/हैल्परों के अलावा 67000 आशावर्करों और मिड डे मील वर्करों के मासिक मानदेय में वृद्धि करने जैसी अपनी सरकार की प्रमुख उपलब्धियां भी बताईं।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि वे अपने भगवंत मान जैसे साथियों की मदद से पंजाब पर कब्ज़ा करने के लिए तैयार है। अकाली नेता बिक्रम सिंह मजीठिया एक भगौड़ा है, जो अपने कुकर्मों के कारण कानून से भगौड़ा है।

इस मौके पर अन्यों के अलावा उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री गुरकीरत सिंह कोटली, विधायक (समराला) अमरीक सिंह ढिल्लों, विधायक (पायल) लखबीर सिंह लक्खा और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सतविन्दर कौर बिट्टी, निदेशक (प्रशासन) पंजाब ट्रांस्को करनबीर सिंह ढिल्लों, कमलजीत सिंह ढिल्लों, चेयरमैन मार्केट कमेटी दर्शन कुन्द्रा, प्रधान नगर काउंसिल सुरिन्दर कुन्द्रा, चेयरमैन इम्परूवमैंट ट्रस्ट, शक्ति आनंद और अन्य बहुत से नेता उपस्थित थे।