पंजाब में अंतरराष्ट्रीय ड्रग रैकेट का भंडाफोड़, चार अरेस्ट

punjab police bust International drug racket, four arrested
punjab police bust International drug racket, four arrested

चंडीगढ़। पंजाब पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार करने और उनके बड़ी मात्रा में नशीली दवाएं जब्त करने के साथ एक ऐसे अंतरराष्ट्रीय ड्रग रैकेट का पर्दाफाश करने का दावा आज किया है जो कुरियर सेवा का इस्तेमाल कर नशीले पदार्थों की कनाडा तस्करी कर था।

पुलिस के अनुसार तस्कर कुरियर सेवा का इस्तेमाल करते हुए नशीली दवाएं विदेश भेजते थे और इनका नियंत्रण कनाडा से किया जाता था। गिरोह मुख्य रूप से अफीम और डेट रेप ड्रग केटामाईन की तस्करी में संलिप्त थे।

एआईजी काउंटर इंटेलीजेंस एचकेपीएस खाख ने बताया कि गिरोह का मास्टर माइंड कमलजीत सिंह चौहान, जो कनाडा का नागरिक है पर मूल रूप से जालंधर के फिल्लौर जिले से है तथा दविंदर निरवाल है जो मूल रूप से राजस्थान के गंगानगर का निवासी है पर इस समय लुधियाना के खन्ना में रहता है।

पुलिस ने आरोपियों के पास से पौने पांच किलो कैटेमाईन, छह किलो अफीम बरामद की है जो खाना बनाने के दोहरे तले वाले सात बर्तनों में पैक की गई थी जो कनाडा कुरियर किये जाने वाले थे।

पुलिस ने दविंदर देव के अलावा जालंधर के अजित सिंह, तरलोचन सिंह तथा होशियारपुर के गुरबख्श सिंह को गिरफ्तार किया गया है। खाख ने बताया कि गिरफ्तारियां एक गुप्त सूचना के आधार पर जालंधर के जंडू सिंघा के निकट हरीपुर टी प्वाइंट से की गई।

प्रारंभिक जांच के अनुसार कुरियर के जरिये नशीली दवाएं कनाडा भेजने की योजना और तैयारी कमलजीत ने पिछले साल यहां आने पर की थी। दविंदर उर्फ देव और अजित सिंह पर भारतीय स्रोतों से नशीली दवाओं का प्रबंध करने का जिम्मा था।

पुलिस के अनुसार गिरोह ने पहले प्रायोगिक तौर पर अफीम के दो पैकेट (छह और 14 किलो के) मिठाइयों के डिब्बों में पैक कर कमलजीत को भिजवाए थे। पुलिस के अनुसार वर्तमान डील के लिए अफीम मध्य प्रदेश से खरीदी गई थी और कैटेमाइन उत्तर प्रदेश के रामपुर से।

जालंधर ग्रामीण पुलिस ने पांच लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस के अनुसार मुख्य अारोपी देव 2011 में भी नशीली दवाओं की तस्करी के लिए गिरफ्तार किया जा चुका है। ड्रग मनी से उसने बड़ी संपत्तियां बनाई थीं और 6000 वर्ग फीट का एक कॉमर्शियल प्लाजा खरीदा था जो प्रवर्तन निदेशालय सील कर चुका है। अजीत सिंह भी पहले गिरफ्तार हो चुका है।