कठपुतली एवं अन्य लोक कलाओं के जरिए होगा बीजेपी का चुनाव प्रचार

जयपुर। विधानसभा चुनाव में मतदाताओं को आकर्षित करने के लिए हाईटेक तकनीक के साथ बीजेपी कठपुतली खेल, नुक्कड़ नाटक तथा अन्य लोक कलाओं का भी सहारा लेगी।

भाजपा राज्य में आगामी चुनाव में अपनी साख कायम रखने के लिए यात्रा, रैली, जनसभा, रायशुमारी एवं बैठकों के साथ सोशल मीडिया और अब परम्परागत लोक कलाओं के माध्यम से मनोरंजन के साधनों का उपयोग करेगी ताकि इसके जरिये वह भाजपा सरकार के कार्यों को मतदाताओं को बता कर अपनी ओर आकर्षित कर सके।

लोक कलाओं के माध्यम चुनाव प्रचार का जिम्मा पार्टी नेता एवं राजस्थान संगीत नाटक अकादमी के अध्यक्ष अशोक पड्या को सौंपा गया हैं। पड्या ने बताया कि कठपुतली खेल, नुक्कड़ नाटक, हेला ख्याल, कुचामणी ख्याल आदि के जरिए जनता के बीच जाकर चुनाव प्रचार किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री एवं पार्टी के चुनाव प्रभारी प्रकाश जावड़ेकर से बात कर शीघ्र ही दीपावली के आस आस यह कार्यक्रम शुरु कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि राज्य की परंपरागत विधाओं में चुनाव प्रचार की तैयारी की जा रही है और इसके लिए लोकसंगीत भी तैयार कराया जा रहा है।

भाजपा सोशल मीडिया के जरिए आमजन तक अपनी बात पहुंचाने के लिए साइबर योद्धा तैयार कर चुकी है और उन्हें विभिन्न स्तरों पर प्रशिक्षण भी दिया जा चुका है। चुनाव प्रभारी जावेड़कर ने हाल में जयपुर में पार्टी के मीडिया सेन्टर का शुभारंभ भी कर चुके हैं।