अब ग्रामीणों की प्राथमिक जांचे होगी गांव में ही : सुरेश रावत

अजमेर। पुष्कर के विधायक सुरेश सिंह रावत ने विधायक निधि से राशि 25 लाख रूपए जरूरतमंद परिवारों को राहत देने के लिए स्वीकृत किए थे। राहत कार्यों के तहत ग्राम पंचायत कोटड़ी, नोसल, भिलावट, सिनोदिया व भदूण के गांवों के 575 जरूरतमंदों को खाद्य सामग्री किट वितरित किए।

7 उप स्वास्थ्य केंद्रों को वितरित किए जांच उपकरण

इसी के साथ विधायक रावत ने ग्राम के उप स्वास्थ्य केंद्रों के लिए विधायक कोष से स्वीकृत राशि से पल्स ऑक्सीमीटर, बीपी इंस्ट्रूमेंट, थर्मल स्कैनर गन व ग्लूकोमीटर आदि उपकरण संबंधित एएनएम एवं बीसीएमएचओ किशनगढ़ को भेंटकर ग्रामीणों के प्राथमिक उपचार में कोताही न बरतने के निर्देश दिए।

उन्होंने ग्रामीणों को बताया कि चिकित्सा विभाग के सबसे निचले स्तर के संस्थान उप स्वास्थ्य केंद्रों तक मुख्य जांच उपकरण विधायक कोटे से उपलब्ध करा दिए गए हैं। अब क्षेत्र के ग्रामीणों को अपनी प्राथमिक जांचों के लिए अन्यत्र परिवहन नहीं करना पड़ेगा। अब गांवों के ही उप स्वास्थ्य केंद्रों पर ही ग्रामीणों की प्राथमिक जांचे संभव करा दी गई है।

विधायक रावत ने कहा कि कांग्रेस सरकार से प्रदेश की जनता त्रस्त हो चुकी है। सत्ताधारी दल के विधायकों में गुटबाजी के चलते पनपे अविश्वास और दो भागों में बंटी कांग्रेस पार्टी आमजन के प्रति अपनी जिम्मेदारी को भूलकर एक दूसरे को नीचा दिखाने में जुटी है।

राज्य के मुख्यमंत्री अपने ही दल के विधायकों को अपने पक्ष में रखने की कोशिश में जनता के प्रति अपनी जिम्मेदारी को भुला चुके है। इस कोरोना काल में जनता के प्रत्येक वर्ग के भरण पोषण की चिंता सरकार को होनी चाहिए, लेकिन ऐसा ना होकर अपनी सत्ता व समर्थन बनाए रखने के लिए विधायकों की मिजाजपूर्सी की जा रही है। जनता सब देख रही है, समय आने पर कांग्रेस सरकार के कुकर्मों का हिसाब चुकता कर देगी।

भदूण पीएचसी का आकस्मिक निरीक्षण

खाद्य वितरण के साथ ही विधायक रावत ने राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भदूण का आकस्मिक निरीक्षण कर ग्रामीणों के लिए की जा रही संपूर्ण चिकित्सा व्यवस्थाओं की जानकारी की ली। विधायक रावत ने अपनी विधायक निधि की राशि से उपलब्ध कराए गए उपकरणों का शुभारंभ कर उन्हें जनसेवा हेतु समर्पित किया। उन्होंने प्रशासन को निर्देश दिए कि विधायक कोटे एवं भामाशाहों के जरिए प्राप्त समस्त चिकित्सा उपकरणों एवं सामग्री का इस्तेमाल ग्रामीणों की स्वास्थ्य एवं जांच व्यवस्थाओं के लिए अनिवार्य रूप से किया जाए।

पंचायत समिति किशनगढ़ प्रधान रामचंद्र थाकण ने विधायक रावत के सेवा कार्यो की प्रशंसा करते हुए कहा कि कई विधायक आए और गए, लेकिन विधायक रावत के रूप में हमने पहला सच्चा जनसेवक देखा है, जो गांव-गांव, ढाणी-ढाणी के विकास एवं कल्याण की सोच रखते हैं। इसी सोच का परिणाम है कि, आज हमारे छोटे से गांव स्तर के उप स्वास्थ्य केंद्रों में भी प्राथमिक जांचे हो पाना संभव हो सकी है। ग्रामीणों की कामना है कि विधायक रावत विधानसभा जयपुर में निरंतर पुष्कर क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते रहे।

रावत ने सिनोदिया पंचायत में 800 औषधीय पौधे ग्रामीणों को घर-घर लगाने के लिए वितरण कर सघन वृक्षारोपण अभियान का शुभारंभ भी किया। इसी के साथ विधायक रावत ने नोसल आईटी सेंटर में पौधारोपण कर पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया।

सभी कार्यक्रमों में किशनगढ़ प्रधान रामचंद्र थाकण, मंडल अध्यक्ष राजेंद्र ओझा आदि विधायक रावत के साथ थे और संबंधित पंचायत के सरपंच, वार्ड पंच, पंचायत समिति सदस्य, भाजपा कार्यकर्ता एवं गणमान्य ग्रामीण कार्यक्रमों में उपस्थित थे।