पुष्कर कार्तिक मेला : पंचतीर्थ स्नान शुरू, श्रद्धालुओं की आवक कम

अजमेर। राजस्थान में अजमेर जिले के सुप्रसिद्ध पुष्कर सरोवर में देवउठनी एकादशी से कार्तिक पूर्णिमा तक चलने वाले पंचतीर्थ स्नान आज से शुरू हो गया, लेकिन कोराेना संक्रमण के चलते राज्य सरकार की कड़ाई के चलते यहां श्रद्धालुओं का टोटा पड़ गया है।

हालांकि प्रशासन और पुलिस सहित स्थानीय लोगों को उम्मीद थी कि पंचतीर्थ स्नान के लिए काफी संख्या में श्रद्धालु पवित्र सरोवर में आस्था की डुबकी लगाने आएंगे जिसके लिए जिला प्रशासन और पुलिस ने भारी तैयारी कर रखी है।

इसके चलते कस्बे में अवरोधक लगाकर चप्पे चप्पे पर पुलिस जाप्ता तैनात कर रखा है, लेकिन जहां प्रतिवर्ष देवउठनी एकादशी के दिन लाखों श्रदालु आस्था की डुबकी लगाने आते थे, इस बार कोरोना महामारी के चलते नहीं के बराबर श्रद्धालु आए हैं।

श्रद्धालुओं की आवक नहीं होने से घाट मन्दिर, बाजार सब सूने नजर आ रहे हैं। आस पास के ग्रामीण ही आस्था की डुबकी लगाने पहुंचे। इससे पहले प्रशासन और पुलिस ने सभी को सचेत कर दिया था कि पुष्कर मेला निरस्त हो चुका है, लिहाजा बहुत कम लोग स्नाने करने पहुंचे। मुख्य गऊ घाट, ब्रह्म घाट और वराह घाट पर थोड़े बहुत श्रद्धालु डुबकी लगाते नजर आए बाकी सभी घाट सुनसान नजर आ रहे हैं।

इससे पहले पंचतीर्थ स्नान शुरू होने के मद्देनजर स्थानीय प्रशासन और पुलिस ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की है। मुख्य मार्गों पर बेरिकेटिंग लगा दिए गए हैं तो वहीं चप्पे-चप्पे पर पुलिस कर्मियों को भी तैनात कर दिया गया है। 25 से 30 नवंबर तक चलने वाले पंचतीर्थ स्नान के लिए प्रशासन और पुलिस ने अपनी तरफ से माकूल व्यवस्था कर ली गई है।

हालांकि कोरोना महामारी के चलते राज्य सरकार ने पुष्कर मेला निरस्त कर दिया, लेकिन पंचतीर्थ स्नान का काफी महत्व होता है, लिहाजा लाखों श्रद्धालु पवित्र सरोवर में पंचतीर्थ स्नान करने यहां आते हैं, लेकिन इस बार कोरोना महामारी के कारण लोग खुद ही नहीं आ रहे हैं। फिर भी पंचतीर्थ स्नान के दौरान भीड़ की संभावना को देखते हुए प्रशासन ने अपनी तरफ से पूरी तैयारी कर रखी है।