अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त पुष्कर मेले का आगाज

अजमेर। राजस्थान में अजमेर के निकटवर्ती तीर्थराज पुष्कर में कार्तिक महीने का अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त पुष्कर मेला आज शुरू हो गया।

दो चरणों में होने वाले मेले के तहत सोमवार से बिना किसी समारोह एवं तामझाम के सरकार की कोरोना नियमों की पालना के तहत श्री पुष्कर पशुहाट मेले का आगाज हो गया।

मेले का दूसरा चरण पंचतीर्थ स्नान का देवउठनी एकादशी से कार्तिक पूर्णिमा के महास्नान तक चलेगा। हालांकि बड़ी संख्या में श्रद्धालु कार्तिक माह में स्नान करने के लिए पवित्र पुष्कर सरोवर पहुंचकर आस्था की डुबकी लगा रहे हैं जिससे सरोवर के घाटों पर मेले जैसा माहौल है।

पुष्कर पशु मेला सरकार के निर्देश पर प्रशासन द्वारा स्थापित मोतीसर रोड पर नए मैदान पर शुरू कर दिया गया। यहां पशुपालन विभाग ने अपने अस्थाई कार्यालय की स्थापना कर पशुओं के लिए दस पशु चौकियों की स्थापना कर दी जिसके जरिए मेले में आने वाले पशुओं की आमद और रवानगी का रिकॉर्ड रखा जा रहा है।

साथ ही मेले में भाग लेने वाले पशु और पशुपालकों की आरटीपीसीआर रिपोर्ट एवं वैक्सीनेशन प्रमाण पत्र को भी जांचा परखा जा रहा है। विभाग की ओर से चौबीस घंटे चिकित्सा सुविधा भी दी जा रही है। मेला क्षेत्र में अस्थायी पशु चिकित्सालय एवं मोबाइल चिकित्सा यूनिट को भी सक्रिय कर दिया गया है। कार्यक्रम में किसी तरह के शुभारंभ एवं समापन का कोई आयोजन नहीं रखा गया है।

विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ. प्रफुल्ल माथुर के अनुसार पशु मेला 14 दिन तक खरीद फरोख्त के दायरे में सीमित रहते हुए 21 नवंबर को संपन्न हो जाएगा। पुष्कर में पशु मेला एवं कार्तिक माह स्नान में आने वाले श्रद्धालुओं के मद्देनजर पुलिस सुरक्षा व्यवस्था भी माकूल की गई है।