पुष्कर सिंह धामी फिर होंगे उत्तराखंड के मुख्यमंत्री

देहरादून। उत्तराखंड भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष मदन कौशिक ने सोमवार शाम विधानमंडल दल के नवनिर्वाचित नेता पुष्कर सिंह धामी के साथ राजभवन में राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (सेनि) से भेंट कर उन्हें अवगत कराया कि धामी को विधानमंडल दल का नया नेता चुना गया है।

कौशिक ने धामी के नेतृत्व में नई सरकार मंत्रिमंडल के गठन का अनुरोध पत्र राज्यपाल को सौंपा।इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी, अजय भट्ट, सांसद डॉ रमेश पोखरियाल निशंक, अस्थायी अध्यक्ष बंशीधर भगत, नवनिर्वाचित विधायक सतपाल महाराज, प्रेमचंद अग्रवाल, रेखा आर्य, अरविंद पांडे और अन्य नवनिर्वाचित विधायक उपस्थित थे।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के अनुरोध पत्र को स्वीकारते हुए राज्यपाल ने मनोनीत मुख्यमंत्री श्री धामी को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाने की सहमति दी। गौरतलब है कि धामी को आज प्रदेश भाजपा विधायक दल का नेता चुना गया। विधानसभा चुनाव में अपनी सीट से पराजित होने के बावजूद विधायक दल ने उन पर विश्वास जताते हुए उन्हें फिर राज्य की बागडोर सौंपने का फैसला किया है। धामी खटीमा विधानसभा सीट से कांग्रेस नेता भुवन कापड़ी से पराजित हो गए थे।

इससे पहले रक्षा मंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता राजनाथ सिंह ने कहा कि धामी को सर्वसम्मति से विधायक दल का नेता चुना गया है। सिंह को विधायक दल के नेता की चुनाव प्रक्रिया की निगरानी के लिए पर्यवेक्षक बनाकर उत्तराखंड भेजा गया था।

इस बीच, भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा और गृह मंत्री अमित शाह ने धामी, पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, राज्य पार्टी प्रमुख मदन कौशिक सहित और अन्य पार्टी नेताओं के साथ बैठक की। कई विधायकों ने धामी से फिर से चुनाव लड़ने का आग्रह किया है और अपनी सीटों से इस्तीफा देने की भी पेशकश की है।

भाजपा ने उत्तराखंड की 70 सीटों में से 47 सीटों पर विजय हासिल की है और करीब 44 फीसदी वोट शेयर हासिल किया था। कांग्रेस के पक्ष में 37 फीसदी वोट पड़े और पार्टी 19 सीटों पर विजयी हुई। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2017 विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 11 सीटें जीती थीं और उसे लगभग 33 प्रतिशत वोट मिले थे, जबकि भाजपा का वोट शेयर लगभग 46 प्रतिशत था।