सिरोही : लोगों को खाने की चिंता, गुटखा नहीं मिलने से कोरेंटाइन सेंटर में युवक खफा

सिरोही में सेंट पॉल स्थित कोरेण्टाइन सेंटर पर पहुंचे विधायक, कलेक्टर और एसपी।
सिरोही में सेंट पॉल स्थित कोरेण्टाइन सेंटर पर पहुंचे विधायक, कलेक्टर और एसपी।

सिरोही। कोरोना वायरस महामारी से उपजे संकट को लेकर सरकार और सिराही प्रशासन के पास आम को समय पर भोजन मुहैया कराने की टेंशन है वहीं सेंट पॉल स्थित कोरेंटाइन सेंटर में एक युवक इसलिए आक्रोशित होता दिखा कि उसे गुटखा नहीं मिल पा रहा है।

युवक की इस शिकायत भरे रवैये पर विधायक संयम लोढ़ा ने भी नाराजगी जताई। कलेक्टर भगवती प्रसाद और पुलिस अधीक्षक कल्याणमल मीणा की इस सहनशीलता की तारीफ करनी होगी कि कानूनन गुटखा पाबन्द होने के बावजूद युवक की अनैतिक मांग पर कार्रवाई नहीं की।

जिले में कोविड संक्रमित केस के सम्पर्क में आए लोगों का जिला मुख्यालय पर कोरेण्टाइन सेंटर है। इन्हें कोविड हॉस्पिटल से अलावा मांडवा, इमानुअल और सेंट पॉल स्कूल में कोरेण्टाइन किया गया है।

इन लोगों के नाश्ते और दोनों समय के भोजन की व्यवस्था करने की जिम्मेदारी अब स्थानीय विधायक और कलेक्टर के आह्वान पर जिला मुख्यालय के दानदाताओं ने उठाई है। इन्हीं कोरेण्टाइन लोगों को नई व्यवस्था से अवगत करवाने और उनकी समस्या जानने के लिए विधायक, कलेक्टर, और पुलिस अधीक्षक समेत प्रशासनिक अधिकारी और जनप्रतिनिधि सेंट पॉल स्कूल पहुंचे तथा कोरेण्टाइन लोगों से मिले।

उन्होंने बताया कि टॉयलेट जाम हो गए हैं, खाना सही मिल रहा है लेकिन समय पर खाने की सूचना नहीं मिल पाती, रोटी कच्ची सिकने, इसके अलावा उन्होंने साबुन नहीं होने की शिकायत भी की।

इन सब समस्याओं के निराकरण के आश्वासन के बाद भी एक युवक गुटखा नहीं मिलने को लेकर नाराजगी जताता रहा। इस पर विधायक संयम लोढ़ा नाराज हो गए। उन्होंने कहा कि प्रशासन जो व्यवस्था कर रहा है उनके लिए दिन रात एक कर रहा है। बुखार होने और भी कलेक्टर उनकी समस्या जानने पहुंचे हैं। शहर के नागरिक उनकी सेवा के लिए तत्पर हैं।

उन्होंने कहा कि ये समस्या नई है और व्यवस्था को सामान्य होने में कुछ समय लगेगा। ऐसे में उन लोगों को भी कुछ धैर्य रखना पड़ेगा। युवक की गैरवाजिब मांग पर भी कलेक्टर ने हाथ जोड़ते हुए ये कहा कि ये समस्या नई है और हम सबकुछ व्यवस्थित कर लेंगे। बस उनके थोड़े सहयोग की जरूरत है।

जानकारी के अनुसार जो युवक गुटखे को लेकर नाराजगी जता रहा था उसे होने वाली समस्या को ध्यान रखते हुए निकोटिन की गोली भी दी गई। यहां मौजूद उपखण्ड अधिकारी हंसमुख कुमार ने कोरेण्टाइन सेंटर में प्रशासन द्वारा की गई व्यवस्था से अवगत करवाया।

खाने की नई व्यवस्था से अवगत करवाया

इस दौरान प्रशासन ने बताया कि रविवार से कोरेण्टाइन सेंटर में खाने की व्यवस्था को बदला गया है। कलेक्टर ने बताया कि सिरोही कोविड 19 सेवा समिति के माध्यम से शहर के व्यवसायियों ने सभी कोरेण्टाइन सेंटर में नाश्ता और भोजन उपलब्ध करवाने का जिम्मा लिया है। रविवार को समिति ने ये सेवा शुरू कर दी।

सेंट पॉल स्कूल में इस दौरान सभापति मनु मेवाड़ा, राजेश जैन, कमलेश मोदी, रघुनाथ माली, राजेश गुलाबवानी, पुनीत जैन, शिरीष जैन, राजीव चौरसिया, सुशील कुमार, मोहनलाल माली, प्रकाश प्रजापत आदि कई लोग उपस्थित थे।

ये व्यवस्था करने के निर्देश

टॉयलेट सफाई के लिए कलेक्टर ने नगर परिषद आयुक्त को कहा। आयुक्त ने कहा कि सफाई कर्मी डर रहे हैं। विधायक और एसपी ने उनकी काउंसलिंग करके सफाई करवाने को कहा। आयुक्त शिवपाल सिंह ने वहां मोबाइल टॉयलेट भी रखवाने को कहा।

कलेक्टर ने कहा कि यहां पर माइक लगा दिए जाएंगे जिससे जैसे ही खाना या नाश्ता पहुंचेगा वैसे उन्हें सूचना मिल जाए। उन्होंने कहा कि इनके लिए लाइट म्यूजिक की व्यवस्था भी की जाएगी जिससे उनका मूड कुछ पॉजिटिव रहे।

यह भी पढें
श्रीराम को काल्पनिक कहने वाली कांग्रेस की दृष्टि मंदिरों के स्वर्णाभूषण पर?
औरैया में भीषण सड़क हादसा,24 प्रवासी मजदूरों की मौत, 35 घायल
देरी से EPF जमा कराने वाले संस्थानों पर नहीं लगेगा जुर्माना
पानी और खून साथ नहीं बह सकते : चिनाब नदी के प्रवाह पर पाक को शेखावत की खरी-खरी
एक जिले से दूसरे जिले में जाने वाले के लिए क्वारेंटाइन अनिवार्य नहीं
निजी स्कूलों में निशुल्क प्रवेश के लिए अभिभावकों की आय सीमा होगी ढाई लाख