मैं ऐसे फाइनल में नहीं पहुंचना चाहता था : राफ़ेल नडाल

पेरिस। लाल बजरी के बेताज बादशाह राफ़ेल नडाल ने फ्रेंच ओपन के सेमीफाइनल में उनके प्रतिद्वंदी एलेक्ज़ेंडर ज़्वेरेव के रिटायर होने के बाद कहा कि वह इस तरह फ़ाइनल में नहीं पहुंचना चाहते थे।

उल्लेखनीय है कि जर्मनी के ज़्वेरेव टख़ने में चोट लगने के कारण मैच से रिटायर हो गये थे और उन्हें व्हीलचेयर पर कोर्ट से बाहर ले जाया गया था। स्पेन के नडाल 7-6 (10-8), 6-6 से आगे चल रहे थे, जब फोरहैंड शॉट तक पहुंचने की कोशिश में ज़्वेरेव का टख़ना मुड़ गया। ज्वेरेव तुरंत गिर गए और अपने टखने को पकड़ कर दर्द से चिल्लाए।

नडाल ने बीबीसी से कहा कि यदि आप इंसान हैं, तो आपको अपने साथी खिलाड़ी के लिए बहुत खेद होना चाहिए। भले ही मेरे लिए फाइनल में पहुंचना एक सपना हो, लेकिन एक साथी को इस तरह देखना वैसा नहीं है जैसा हम चाहते थे।

उन्होंने कहा कि मैं केवल एक चीज कह सकता हूं, मुझे उम्मीद है कि उनकी स्थिति बहुत बुरी नहीं है। टखना मुड़ना आम बात होती है, और मुझे उम्मीद है कि कुछ टूटा नहीं है। अपना 14वां रौलां गैरो खिताब जीतने और रिकॉर्ड 22वां ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने का लक्ष्य रखने वाले नडाल का सामना फाइनल में नॉर्वे के कैस्पर रूड से होगा।