26 जनवरी को राजपथ पर पहली बार गर्जन करेगा राफेल

Rafael will roar on Rajpath for the first time
Rafael will roar on Rajpath for the first time

नई दिल्ली। भारतीय वायु सेना का ब्रह्मास्त्र राफेल लड़ाकू विमान गणतंत्र दिवस पर राजपथ पर पहली बार गर्जन कर अपनी ताकत और क्षमता का प्रदर्शन करेगा।

वायु सेना फ्रांस से खरीदे गए पांचवीं पीढी के अत्याधुनिक लड़ाकू विमान राफेल को पहली बार गणतंत्र दिवस परेड में उतार रही है और यह इस वर्ष की परेड का मुख्य आकर्षण रहेगा। गणतंत्र दिवस पर दो राफेल राजपथ पर अपने जौहर दिखाएंगे।

वायु सेेना के प्रवक्ता ने आज यहां एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि इस बार 42 लड़ाकू विमान, हेलिकॉप्टर और परिवहन विमान परेड के दिन फ्लाई पास्ट में हिस्सा लेंगे। इनमें मुख्य आकर्षण राफेल होगा जो वर्टिकल चार्ली मुद्रा में परेड और फ्लाईपास्ट का समापन करेगा।

यह पहला मौका है जब राफेल राजपथ पर वर्टिकल चार्ली मुद्रा में अपने जौहर दिखाते हुए सलामी देगा। इसके अलावा राफेल विमान एकलव्य फार्मेशन में भी जगुआर तथा मिग-29 लड़ाकू विमानों के साथ अपनी करतबबाजी करता दिखाई देगा। वायु सेना ने फ्रांस से 36 राफेल विमान खरीद का सौदा किया है जिसमें से आठ विमानों की आपूर्ति हो चुकी है।

उन्होंने कहा कि इसके अलावा सुखोई लड़ाकू विमान भी अब अपने करतबों का प्रदर्शन करेंगे। साथ ही ध्रुव, रूद्र और एमआई -17 के साथ साथ अत्याधुनिक लड़ाकू हेलिकॉप्टर अपाचे तथा हैवीवेट हेलिकॉप्टर चिनूक भी अपनी ताकत तथा जौहर दिखाएंगे। परिवहन विमान सी -17 ग्लोबमास्टर तथा सी-130 जे हरक्यूलिस भी अपनी क्षमता का प्रदर्शन करेंगे।

वायु सेना के मार्चिंग दस्ते में 100 वायुयौद्धा रहेंगे जिनमें से चार अधिकारी हैं। इस दस्ते का नेतृत्व फ्लाईट लेफ्टिनेंट तनिक शर्मा करेंगे। वायु सेना की झांकी में इस बार लड़ाकू विमान तेजस, सुखोई के साथ साथ रोहिणी राडार का प्रदर्शन किया जाएगा।

वायु सेना की पहली महिला लड़ाकू पायलट भावना कंठ भी राजपथ पर दिखाई देगी। झांकी पर आकाश और रूद्रम मिसाइल के साथ टैंक रोधी मिसाइल का भी प्रदर्शन किया जाएगा। इसके अलावा वायु सेना का 75 सदस्यीय बैंड दस्ता भी अपनी स्वर लहरी से राजपथ पर दर्शकों को मंत्रमुग्ध करेगा।