गिरफ्तार करो, धक्के मारो, सच्चाई नहीं छिपेगी : राहुल गांधी

rahul gandhi courts arrest at big protest, spends 50 minutes at police station

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्रीय जांच ब्यूरो निदेशक आलोक कुमार वर्मा को छुट्टी पर भेजने के विरोध में शुक्रवार को यहां सीबीआई मुख्यालय पर प्रदर्शन कर गिरफ्तारी दी और आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी घोटाले छिपाने के लिए गैर कानूनी काम कर रहे हैं।

गांधी ने यहां लोधी रोड थाने में गिरफ्तारी देने के बाद पत्रकारों से कहा कि देश के चौकीदार ने चोरी की है और इस पर पर्दा डालने का प्रयास कर रहे हैं लेकिन उनका कोई प्रयास सफल होने वाला नहीं है। देश की जनता को इसकी खबर है इसलिए सच्चाई सामने आएगी।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस जनता की आवाज है और उसे दबाया नहीं जा सकता। कांग्रेस की ताकत देश की जनता है, इसलिए कितनी ही बार गिरफ्तार कर लो, धक्के मारो, इनका कोई फर्क नहीं पड़ता।

सीबीआई मुख्यालय में आयोजित प्रदर्शन के बाद कांग्रेस अध्यक्ष ने गिरफ्तारी दी। उनके साथ गिरफ्तारी देने वाले वाले पार्टी के अन्य नेताओं में अहमद पटेल, हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा, मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला, पार्टी महासचिव अशोक गहलोत, भुवनेश्वर कलीता, राज बब्बर, पार्टी नेता दीपेन्द्र हुड्डा तथा प्रमोद तिवारी सहित कई नेता शामिल थे। पार्टी ने देश के विभिन्न हिस्सों में सीबीआई निदेशक के खिलाफ की गयी कार्रवाई के विरोध में प्रदर्शन किया।

गांधी ने कहा कि यह सचाई है कि प्रधानमंत्री ने राफेल लड़ाकू विमान का सौदा बदला है। इसके लिए उन्होंने किसी से कोई सलाह मशविरा नहीं किया। इस सौदे में सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी एचएएल को मिलने वाले 30 हजार करोड़ रुपए अपने उद्योगपति मित्र अनिल अम्बानी की जेब में डाले हैं। यह सच्चाई है और पूरा देश इस सचाई को जानता है। एक दिन यह पूरी सचाई सामने आएगी।

कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि मोदी ने किसानों का एक पैसे का भी कर्ज माफ नहीं किया है लेकिन बड़े उद्योगपति बैंकों से देश की जनता का पैसा लूटकर विदेश भाग गए। विजय माल्या नौ हजार करोड़ रुपए लेकर गया। उसके बाद मेहुल चोकसी तथा नीरज मोदी बैंकों का कर्ज लौटाने की बजाए विदेश भाग गए। उससे पहले ललित मोदी भागा था और अब शायद अनिल अम्बानी भी भाग जाएंगे।