‘नमो’ नहीं सरकारी ‘एप’ का उपयोग करें मोदी : राहुल गांधी

Rahul Gandhi criticises PM Modi for 'misusing' app NaMo
Rahul Gandhi criticises PM Modi for ‘misusing’ app NaMo

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर पद के दुरुयोग का आरोप लगाते हुए सवाल किया कि जब ‘नमो एप’ के जरिए डाटा लीक हो रहा है तो मोदी प्रधानमंत्री कार्यालय के अधिकृत ‘एप’ का उपयोग क्यों नहीं कर रहे हैं।

राहुल गांधी ने ट्वीट किया कि मोदी करोड़ों देशवासियों के निजी डाटा को ‘नमो एप’ के जरिए अपना निजी डाटाबेस बना कर प्रधानमंत्री पद का दुुरुपयोग कर रहे हैं। यदि मोदी प्रधानमंत्री के तौर पर संचार तकनीक का इस्तेमाल देश के लोगों साथ करना चाहते हैं तो कोई बात नहीं, लेकिन इसके लिए उन्हें प्रधानमंत्री कार्यालय के अधिकृत एप का ही इस्तेमाल करना चाहिए। यह डाटा भारत के लोगों का है मोदी का नहीं।

कांग्रेस अध्यक्ष ने इससे पहले मोदी पर ‘नमो एप’ से लोगों का निजी डाटा लीक होने के खुलासे को लेकर तंज कसते हुए कहा था कि वह ‘बिग बॉस’ हैं और किसी की भी जासूसी कर सकते हैं। उन्होंने ट्वीट करके कहा कि मोदी जी का ‘नमो एप’ आपके दोस्तों तथा परिवार के सदस्यो का ऑडियो, वीडियो चुपचाप रिकाॅर्ड कर रहा है।

साथ ही जीपीएस के जरिए यह भी पता लगाया जा रहा है कि आप कहां हैं। वह ‘बिग बॉस’ हैं जो भारतीयों की जासूसी करना पसंद करते हैं। अब वह हमारे बच्चों का डाटा भी चाहते हैं इसलिए 13 लाख एनसीसी कैडेट को जबरन यह एप डाउनलोड करने के लिए कहा गया है।

नरेंद्रमोदी एप से डाटा लीक होने को लेकर राहुल गांधी ने रविवार को फ्रांस के एक शोधार्थी के कथित खुलासे का हवाला देते हुए कहा था कि ‘नमो एप’ को डाउनलोड करते ही डाउनलोड करने वाले की पूरी सूचना अमरीकी कंपनियों तक पहुंच जाती है। गांधी की आलोचना पर भाजपा ने करारा पलटवार किया था और कहा कि कांग्रेस को तकनीकी की जानकारी नहीं है।

फ्रांस के शोधार्थी इलियट एल्डरसन ने ट्वीट करके कहा था ‘नमो एप’ को डाउनलोड करते ही डाउनलोड करने वाले की पूरी सूचना अमरीकी कंपनियों को पहुंच जाती है। आप नरेंद्र मोदी के आधिकारिक एप पर जैसे ही अपना प्रोफाइल देते हैं आपकी निजी सूचना नाम, इमेल, फोटो, आदि संबंधी सारी सूचना अमरीका पहुंच जाती है।