रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कैरिज, लोको कारखाना व अजमेर स्टेशन का किया निरीक्षण

Verified Apps to watch T20 World Cup 2022 Live Stream

अजमेर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रोजगार मेले के माध्यम से 10 लाख नियुक्ति पत्र देने की मुहिम शुरू की थी। इसके दूसरे चरण के अंतर्गत मंगलवार को रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव मुख्य आतिथ्य में फायसागर रोड स्थित केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल ग्रुप केंद्र -दो के परिसर में आयोजित रोज़गार मेला आयोजित किया गया।

इस अवसर पर अजमेर सांसद भागीरथ चौधरी, महाप्रबंधक उत्तर पश्चिम रेलवे विजय शर्मा तथा मंडल रेल प्रबंधक अजमेर राजीव धनखड़ सहित केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के वरिष्ठ अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे। प्रधानमंत्री मोदी इस कार्यक्रम से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए से 10:30 बजे जुड़े और कर्मयोगी प्रारंभ के प्रशिक्षण पोर्टल का शुभारंभ किया।

उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी कैप्टन शशि किरण के अनुसार इस रोज़गार मेले में चयनित युवाओं को नियुक्ति पत्र प्रदान किए गए, इसमें सशस्त्र सीमा बल, बीएसएफ, रेलवे एवं अन्य विभागों के नवनियुक्त युवाओं को नियुक्ति पत्र सौंपे गए।

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने रोज़गार मेले में युवाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि जिंदगी की एक नई जर्नी शुरू हो गई है। एक मंत्र याद रखें, राष्ट्र प्रथम सदैव प्रथम। कोविड के बाद पुनः देश ने विकास की रफ्तार पकड़ ली है एवं आज भारत दुनिया को रास्ता दिखा रहा है।

आज 71 हजार नौकरियां एक साथ दी जा रही है। उन्होंने कहा कि युवाओं को रोजगार का तोहफा पीएम मोदी ने दिया है। उन्होंने कहा कि इस अभियान में दस लाख लोगों को रोज़गार दिया जाएगा। इतना बड़ा अभियान सम्पूर्ण पारदर्शिता के साथ हो रहा है।

इस कार्यक्रम के पश्चात पुष्कर में ब्रह्मा मंदिर में दर्शन कर कैरिज कारखाना पहुंचकर माननीय रेल मंत्री ने निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने कैरिज कारखाने के बारे में वरिष्ठ अधिकारियों से जानकारी ली। निरीक्षण के दौरान उन्होंने कारखाना कार्मिकों से आत्मीय संवाद किया।

इस दौरान सम्बोधित करते हुए सभी को बधाई दी कि और कहा कि आपने अजमेर की वर्कशॉप का गौरव बनाए रखा। वंदे भारत की तैयारी करने के लिए भी आह्वान किया। इसके पश्चात रेल मंत्री ने लोको कारखाना पहुंचकर भाप का इंजन देखा। यह रेल इंजन वर्ष 1873 में शंटिग के लिए भारत में प्रथम आयातित मीटर गेज शंटिग इंजन है, इस लोको ने लगभग 100 वर्ष शंटिंग का कार्य किया।

रेलमंत्री ने महाप्रबंधक उत्तर पश्चिम रेलवे विजय शर्मा सहित उपस्थित रेल अधिकारियों से रेलवे संबंधित गतिविधियों और योजनाओं के बारे में विस्तृत चर्चा की। उसके पश्चात अजमेर स्टेशन के निरीक्षण के लिए पहुंचे जहां उन्होंने बुक स्टॉल से पैसे देकर बुक खरीदी, गिफ्ट के रूप में बुक को स्वीकार नहीं किया।

यात्रियों से उनकी यात्रा के बारे में जानकारी ली तथा स्टेशन में ट्रेनों में सफाई के बारे में जानकारी प्राप्त की। एक स्टेशन एक उत्पाद योजना स्टाल पर जाकर उत्पाद के बारे में पूछताछ की।

स्टेशन निरीक्षण के दौरान रेलकर्मियों से भी संवाद किया। स्टेशन री-डेवलपमेंट कार्य के बारे में अधिकारियों से गहन वार्तालाप किया। अजमेर स्टेशन निरीक्षण के पश्चात माननीय रेल मंत्री दिल्ली के लिए विंडो निरीक्षण करते हुए रवाना हुए।

विंडो निरीक्षण के दौरान मार्ग में किशनगढ़, नरेना, फुलेरा और जयपुर स्टेशनों पर भारी संख्या में आमजन रेलमंत्री के स्वागत के लिए उपस्थित थे। इन स्टेशनों पर रेल मंत्री ने आमजन को संबोधित कर उनको धन्यवाद दिया और आश्वस्त किया कि रेल कार्यों में उनके क्षेत्र का हमेशा ध्यान रखा जाएगा।