कांग्रेस प्रत्याशी हेमन्त भाटी के पक्ष में ललित भाटी ने नाम वापस लिया

अजमेर। विधानसभा सीट अ​जमेर दक्षिण से कांग्रेस के बागी ​ललित भाटी ने गुरुवार को पार्टी प्रत्याशी एवं भाई हेमन्त भाटी के पक्ष में नाम वापस ले लिया। इसे कांग्रेस पार्टी की रूठों को मनाने की दिशा में बडी सफलता के तौर पर देखा जा रहा है।

विधानसभा चुनावों में अजमेर दक्षिण सीट से टिकट नहीं मिलने से बागावत पर उतरे ललित भाटी ने अपने ही छोटे भाई हेमन्त भाटी के खिलाफ ताल ठोककर एक बारगी मुकाबले को कडा बना दिया था। वे बराबर इस बात का दावा करते रहे कि उन्होंने नामांकन चुनाव लडने के लिए भरा है साथ ही उन्होंने पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी पर जुबानी तीर चलाने में कोई कसर बाकी नही छोडी।

इस बीच दो दिन में बदले राजनीतिक घटनाक्रम और पार्टी के आला नेताओं की समझाइश के बाद उन्हें पार्टी प्रत्याशी हेमन्त भाटी की जीत सुनिश्चित करने का वास्ता देकर मना लिया गया। ललित भाटी ठीक 2 बजकर 30 मिनट पर अजमेर कलेक्ट्रेट पहुंचे तथा तीन बजने में 5 मिनट पहले रिटर्निंग अधिकारी के समक्ष नाम वापस लेने का आवेदन पेश कर दिया।

नाम वापस लेने के बाद ललित भाटी ने कहा कि पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की समझाइश तथा खासतौर पर अशोक गहलोत के निर्देश पर मैंने अपना नाम वापस लिया है। ललित भाटी ने कहा कि मोहर लगेगी हाथ पर।  नाम वापस लेने के दौरान इस मौके पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ नेता इमरान किदवई, जावेद मिर्जा, पर्यवेक्षक राकेश धाबाई, शहर अध्यक्ष विजय जैन, श्याम प्रजापति, शहर कांग्रेस प्रवक्ता मुजफ्फर भारती, शहर उपाध्यक्ष प्रमिला कौशिक सहित सैकड़ों की संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता और पदाधिकारी मौजूद रहे।