राजस्थान में गुलाबचंद कटारिया चुने गए नेता प्रतिपक्ष

Rajasthan assembly : Gulab Chand Kataria elected as leader of opposition

जयपुर। राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व गृह मंत्री गुलाबचंद कटारिया नेता प्रतिपक्ष चुने गए हैं। भाजपा विधायक दल की आज यहां हुई बैठक में कटारिया का सर्वसम्मति से नेता प्रतिपक्ष के लिए चयन किया गया।

इसके बाद पार्टी के विधानसभा चुनाव में प्रभारी रहे एवं केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर एवं पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे तथा भाजपा प्रदेशाध्यक्ष मदन लाल सैनी तथा अन्य पार्टी नेताओं की मौजदूगी में कटारिया के नेता प्रतिपक्ष चुने जाने की औपचारिक ऐलान किया गया।

उल्लेखनीय है कि कटारिया को पन्द्रहवीं विधानसभा के लिए नव निर्वाचित विधायकों को शपथ दिलाने के लिए प्रोटेम स्पीकर नियुक्त किया गया है और सोमवार को राज्यपाल कल्याण सिंह राजभवन में उन्हें विधायक की शपथ दिलाएंगे।

कटारिया वर्ष 1977 में राज्य की छठीं विधानसभा के लिए चुने गए और वह इसके बाद 1980, 1993, 1998, 2003, 2008, 2013 एवं पिछले 2018 विधानसभा चुनाव में उदयपुर से विधायक चुने गए।

वह वर्ष 1989 में नौवीं लोकसभा के लिए भी सदस्य चुने गए। कटारिया वर्ष 2002 में भी प्रदेश में नेता प्रतिपक्ष रह चुके हैं। वह वर्ष 2004 एवं वर्ष 2013 में वसुंधरा सरकार में प्रदेश के गृह मंत्री भी बने। उन्हें वर्ष 1999 में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष भी बनाया गया।

उपनेता प्रतिपक्ष बनाए राठौड़ वर्ष 1990 में चुरु विधानसभा क्षेत्र से पहली बार विधायक बने और इसके बाद वह 1993, 1998, 2003, 2008, 2013 तथा पिछले 2018 का विधानसभा चुनाव जीतकर लगातार सातवीं बार विधायक बने।

राठौड़ वर्ष 1991 में सरकारी मुख्य उपसचेतक भी रहे। वह 1993 में राज्य के चिकित्सा मंत्री, 2003 में सार्वजनिक निर्माण मंत्री तथा पिछली वसुंधरा सरकार में पंचायती राज मंत्री रह चुके हैं।

विपक्ष की भूमिका में नहीं छोडेंगे कोई कसर-कटारिया

राजस्थान में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा है कि विपक्ष की भूमिका में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी। कटारिया ने नेता प्रतिपक्ष चुने जाने के बाद पत्रकारों से कहा कि जब हम सत्ता में नहीं थे तब भी कांग्रेस के समक्ष जनता की आवाज को बराबर उठाते रहे और अब फिर भारतीय जनता पार्टी विपक्ष की भूमिका में कोई कसर नहीं छोड़ेगी।

उन्होंने कहा कि भाजपा जनता की समस्याओं को प्रमुखता से उठाएगी और कांग्रेस को चैन से नहीं बैठने देगी। उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि वह झूठ बोलकर और लोगों को सपना दिखाकर सत्ता में आई है।

उन्होंने कहा कि वर्ष 2003 से लेकर अब तक पूर्व मुख्यमंत्री एवं राष्ट्रीय उपाध्यक्ष वसुंधरा राजे का परिश्रम और नेतृत्व उन्हें प्राप्त हुआ है इसके लिए वह राष्ट्रीय और प्रदेश नेतृत्व का आभारी है।

उन्होंने कहा कि उन्हें नेता प्रतिपक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गई है और वह आश्वस्त करना चाहते हैं कि जनता के लिए सड़क से लेकर सदन तक पुरजोर तरीके से मुकाबला किया जाएगा। कटारिया ने कहा कि वे सब मिलकर काम करेंगे और किसी काम में कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी।