सियासी बयानबाजी छोड़कर गहलोत कम करें वैट : सतीश पूनियां

जयपुर। राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने देश में डीजल-पेट्रोल पर सर्वाधिक वैट राजस्थान में बताते हुए कहा है कि प्रदेश की गहलोत सरकार को सियासी बयानबाजी छोड़कर अन्य राज्यों की तरह प्रदेश में वैट कम कर जनता को राहत प्रदान करनी चाहिए।

डा पूनियां ने आज मीडिया से बातचीत में कहा कि केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार द्वारा डीजल-पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क कम करने से आमजन एवं व्यापारियों को काफी राहत मिली है, लेकिन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जो कह रहे हैं वह आश्चर्यजनक है कि उन्होंने उत्पाद शुल्क में वैट को समाहित कर लिया, जो प्रदेश की जनता के साथ छलावा है।

डॉ. पूनियां ने कहा कि राजस्थान में डीजल-पेट्रोल पर वैट की अन्य राज्यों से तुलना करेंगे तो देश का सर्वाधिक वैट राजस्थान में है, इसलिए यहां डीजल-पेट्रोल महंगा है, जबकि दूसरे प्रदेशों की सरकारों मध्यप्रदेश, हरियाणा, उत्तरप्रदेश, बिहार आदि ने आमजन को राहत देने के लिए वैट कम किया है।

उन्होंने मांग की कि इस बात को गंभीरता से लेकर राजस्थान की गहलोत सरकार को वैट को कम करना चाहिए। डॉ. पूनियां ने मोदी सरकार के फैसले की प्रशंसा करते हुए कहा कि दीपावली पर केन्द्र की मोदी सरकार ने आम जनता को राहत देने के लिए पेट्रोल पर पांच रुपए और डीजल पर 10 रुपए एक्साइज ड्यूटी कम की है, इससे आम जनता को काफी राहत मिली है।

अब प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार की बारी है कि वह केन्द्र पर सियासी बयानबाजी के बजाय देश में सर्वाधिक राजस्थान में लग रहे वैट की दरों में कमी करके प्रदेश की जनता को राहत प्रदान करे।