सोशल मीडिया पर 28 अगस्त को भाजपा का ‘हल्ला बोल कार्यक्रम’

लम्बित भर्तियाँ पूरी नहीं होने से प्रदेश का युवा वर्ग परेशान
किसान कर्जमाफी के नाम पर वादाखिलाफी से किसान परेशानः
प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां करेंगे ‘हल्ला बोल कार्यक्रम’ की शुरूआत
राज्य सरकार सिर्फ धन संग्रह करने का काम कर रही है
भाजपा निभाएगी मजबूत विपक्ष की भूमिका
जयपुर। सत्तारूढ कांग्रेस सरकार ने अपने घोषणा-पत्र में बिजली के बिलों में बढ़ोतरी नहीं करने के बावजूद वादाखिलाफी करते हुए कोरोना कालखण्ड में प्रदेश की जनता को राहत देने के बजाय बिजली के बिलों में कई बार फ्यूल चार्ज, स्थाई शुल्क के जरिए बढ़ोतरी की है, जिससे आमजन, प्रदेश के किसान एवं औद्योगिक इकाईयों पर भारी मार पड़ रही है।

प्रदेश की कांग्रेस सरकार सरचार्ज के रूप में 1 हजार 40 करोड़ का अतिरिक्त भार डालकर जनता को लूटने का काम कर रही है, इससे प्रत्येक उपभोक्ता पर 500 से 2000 रूपए तक प्रतिमाह का अतिरिक्त भार ड़ालने का जनविरोधी कार्य किया जा रहा है। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां ने कहा कि राज्य सरकार की इन जनविरोधी नीतियों का पुरजोर विरोध किया जाएगा।

पूनियां ने कहा कि लम्बित भर्तियों से प्रदेश का युवा वर्ग परेशान एवं हताश है, बीते डेढ़ साल में एक लाख से अधिक विभिन्न पदों पर भर्तियों का कांग्रेस सरकार ने ऐलान किया था, लेकिन अभी तक करीब 16 हजार पदों पर ही भर्ती प्रक्रिया चल रही है, जिससे प्रदेश के युवाओं के साथ बड़ा खिलवाड़ किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जुलाई से बेरोजगार युवाओं का बेरोजगारी भत्ता नहीं मिल रहा है। इस तरह प्रदेश सरकार ना केवल लम्बित भर्तियों को पूरा कर रही है बल्कि बेरोजगारी भत्ते पर रोक लगाकर युवाओं के साथ धोखा एवं छलावा किया जा रहा है।

बढ़ते अपराधों के कारण प्रदेश अपराधों की राजधानी बन गया है, सरकार कानून व्यवस्था पर कोई ध्यान नहीं दे रही है। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में किसानों से सम्पूर्ण कर्जमाफी का वादा किया था, लेकिन सत्ता मिलते ही कांग्रेस सरकार और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत इस वादे को पूरा करना भूल गए, जो किसानों के साथ बहुत बड़ा धोखा है।

भाजपा के मुख्य प्रवक्ता व विधायक रामलाल शर्मा ने कांग्रेस सरकार निशाना साधते हुए कहा कि इतनी तीव्रता दिखा रही थी सदन को आहूत करने के लिए और कई बार महामहिम के ऊपर कांग्रेस की सरकार ने आरोप-प्रत्योराप लगाने का भी काम किया। प्रदेश के कई माननीय सदस्यों ने इस उत्साह के साथ सवाल लगाए कि हमारी जनसमस्याओं का समाधान विधानसभा के पटल के ऊपर होगा, लेकिन विधानसभा के सत्र के दौरान जिस तरीके से सरकार ने आनन-फानन के अन्दर 13 बिल पारित करने का काम किया, बिना बहस करवाए बिल पारित करने का काम किया।

शर्मा ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष और प्रदेशाध्यक्ष ने कई सवाल खड़े किए, उसके बावजूद भी उनके सवाल को दरकिनार करने का काम सदन के अन्दर हुआ और अब हालात प्रदेश के अन्दर यह बने हुए हैं कि सरकार जिन मुद्दों के आधार पर सत्ता में आई थी, जो बड़ी-बड़ी घोषणाएं सरकार ने दो बजट-सत्रों के अन्दर की है उसके उपरान्त भी धरातल के ऊपर एक भी कार्य ऐसा नहीं है कि जिसकी उपलब्धि का बखान सरकार करे और पिछले पौने दो सालों के अन्दर सरकार ने जनहित के कई फैसले ऐसे लिए हैं कि जनता आज त्रस्त है और जनता के उन फैसलों, सरकार के अनैतिक कृत्यों और सरकार के उन कार्यों की वजह से जनता अपने आपको ठगा सा महसूस कर रही है।

इन सब बातों को लेकर आने वाले समय के अन्दर भाजपा ने 4 कार्यक्रम तय किए हैं। पहला कार्यक्रम 28 अगस्त को ‘हल्ला बोल कार्यक्रम’ है और इस कार्यक्रम के लिए प्रदेश के सभी नेता अलग-अलग समय उनका निर्धारित किया गया है।

रामलाल शर्मा ने कहा कि प्रदेश की जनता को बताना चाहूंगा कि भाजपा मजबूत प्रतिपक्ष की भूमिका के अन्दर उन सब कार्यों को करने के लिए तैयार है, जो प्रतिपक्ष के नाते हमारी जिम्मेदारी बनती है। उन्होंने कहा कि कोविड की गाइडलाइन का पालन करते हुए आंदोलन को धरातल पर ले जाने का काम करेंगे, सरकार की विफलताओं को भी नीचे जनता तक बताने का काम करेंगे और आने वाले समय के अन्दर एक मजबूती के आधार पर हम सरकार की उन विफलताओं को भी बतायें, जिन विफलताओं के आधार के ऊपर जनमानस तैयार हो सके। प्रेसवार्ता में भाजपा की प्रदेश उपाध्यक्ष डाॅ. अलका सिंह गुर्जर एवं प्रदेश मीडिया प्रभारी विमल कटियार मौजूद रहे।

28 अगस्त को हल्ला बोल कार्यक्रम

बिजली बिल माफी, सरचार्ज बढ़ोतरी सहित विभिन्न मुद्दों को लेकर 28 अगस्त को भाजपा प्रदेशभर में सोशल मीडिया पर ‘हल्ला बोल कार्यक्रम’ के माध्यम से आंदोलन करेगी। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां सुबह 9.30 बजे सोशल मीडिया के माध्यम से कांग्रेस सरकार के खिलाफ ‘हल्ला बोल कार्यक्रम’ की शुरूआत करेंगे। प्रदेश के भाजपा सांसद, विधायक, पूर्व विधायक, प्रदेश पदाधिकारी, मोर्चों के प्रदेशाध्यक्ष, जिलाध्यक्ष, जिला पदाधिकारी, पूर्व जिला प्रमुख, पूर्व महापौर, पूर्व प्रधान, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष, मोर्चा प्रदेश पदाधिकारी एवं मण्डल अध्यक्ष सोशल मीडिया पर ‘हल्ला बोल कार्यक्रम’ में अपनी भागीदारी निभाएंगे।

29 अगस्त को संभाग मुखयलयों पर प्रेस कांफ्रेंस

29 अगस्त को प्रदेशभर के सातों सम्भाग मुख्यालयों पर प्रेस कांफ्रेंस आयोजित की जाएगी, जिनमें जयपुर में प्रदेश महामंत्री मदन दिलावर, भरतपुर में प्रदेश उपाध्यक्ष मुकेश दाधीच, अजमेर में प्रदेश उपाध्यक्ष प्रसन्न चन्द मेहता, जोधपुर में प्रदेश महामंत्री भजनलाल शर्मा, कोटा में प्रदेश उपाध्यक्ष सीपी जोशी, बीकानेर में प्रदेश उपाध्यक्ष माधोराम चौधरी, उदयपुर में प्रदेश उपाध्यक्ष हेमराज मीणा प्रेस कांफ्रेंस को सम्बोधित करेंगे। इस दौरान इनके साथ सांसद, जिलाध्यक्ष उपस्थित रहेंगे एवं शेष अन्य जिलों में प्रदेश पदाधिकारी, जिलाध्यक्ष एवं सांसद प्रेसवार्ता करेंगे।

31 अगस्त को बिजली विभाग के कार्यालयों पर प्रदर्शन

31 अगस्त को सुबह 11 बजे भाजपा प्रदेशभर में सभी मण्डलों में विद्युत विभाग के एक्सईएन, एईएन, जेईएन इनमें से जो भी उपलब्ध होंगे उनको ज्ञापन देकर सरकार का पुतला दहन एवं धरना-प्रदर्शन का आयोजन किया जाएगा।

2 अक्टूबर को उपखंड कार्यालय के बाहर धरना

प्रदेश में बढ़ते अपराध, महिला उत्पीड़न, दलित उत्पीड़न, एसटी उत्पीड़न, दलित महिला उत्पीड़न, डकैती, दुष्कर्म, हत्या, लूटपाट, चोरी, टिड्डियों से हुए फसलों के नुकसान, बिजली के बिलों में बढ़ोतरी से आमजन एवं किसान परेशान, किसानों को ऋण नहीं मिलना, राशन वितरण में अनियमितताएं, लम्बित भर्तियां, बेरोजगारी भत्ता, गौशालाओं के अनुदान, ग्राम पंचायतों की 3 किश्तें अभी तक नहीं मिलना, कोरोना का कु-प्रबंधन व अव्यवस्थाएं एवं 22 जिलों में श्रमिकों के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना में लापरवाही सहित विभिन्न मुद्दों को लेकर 2 सितम्बर को उपखण्ड अधिकारी कार्यालय के बाहर धरना-प्रदर्शन किया जाएगा।

4 सितंबर को समस्त जिला कलेक्टर को सौंपेंगे ज्ञापन

4 सितम्बर को समस्त जिला कलेक्टर को जिलाध्यक्ष, सांसद, पूर्व सांसद, विधायक, पूर्व विधायक एवं वरिष्ठ भाजपा कार्यकर्ता प्रदेश के विभिन्न जनहित के मुद्दों को लेकर ज्ञापन सौंपेंगे। प्रदेश उपाध्यक्ष मुकेश दाधीच, प्रदेश मुख्य प्रवक्ता एवं विधायक रामलाल शर्मा इस धरने-प्रदर्शन एवं ज्ञापन के कार्यक्रम से सम्बन्धित समन्वय की व्यवस्था देखेंगे।