अगर हिंसा में भाजपा के शामिल होने के सबूत है तो करे कार्रवाई : सतीश पूनियां

जयपुर। राजस्थान के भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष डा सतीश पूनियां ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बयान पर पलटवार करते हुए कहा है कि वह हर बार अपनी इंटेलिजेंस फेलियर को छुपाने के लिए आरोप भाजपा के माथे मढ़ते हैं, अगर वाक़ई भाजपा के हिंसा में शामिल होने के सबूत हैं तो कार्यवाही करनी चाहिए।

डा पूनियां ने सोशल मीडिया के माध्यम से आज यह बात कही। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्रीजी आप हर बार अपनी इंटेलिजेंस फेलियर को छुपाने के लिए हमारे माथे आरोप मढ़ते हो। पीएफआई को रैली की छूट आप देते हो, रामनवमी के जुलूस पर पथराव का पूरा राजस्थान गवाह है, आप कहते हैं कि यह भाजपा करवाती है, अगर वाक़ई आपके पास भाजपा के शामिल होने के सबूत हैं तो करिए कार्यवाही।

उल्लेखनीय है कि गहलोत ने गुरुवार को मीडिया से बातचीत में कहा था कि ये चुनाव हार रहे हैं इसलिए आग लगा रहे हैं अगर केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह में दम है तो करौली के बाद सात राज्यों में जो हिंसा हुई है उसकी जांच के लिए गृह मंत्रालय की कमेटी बनाए।