दो व्यक्तियों की महत्वाकांक्षा ने प्रदेश को ढाई साल पीछे ढकेल दिया : पूनियां


अजमेर।
राजस्थान भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने कहा है कि राज्य में दो व्यक्तियों की महत्वाकांक्षा ने प्रदेश को ढाई साल पीछे ढकेल दिया है। उनके झगड़े से प्रदेश की जनता का नुकसान हुआ है।

एक दिवसीय दौरे पर अजमेर आए डॉ. पूनिया ने आज भाजपा के कोरोनाकाल में दिवंगत हुए नेताओं या उनके परिजनों के निधन पर दुख जताया और अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किए।
डा पूनिया ने इस अवसर पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि राजस्थान में कांग्रेस अंतर कलह और अंतर विरोध की शिकार हैं। 2018 में सत्ता में आई कांग्रेस सरकार के दो बड़े चेहरों की महत्वाकांक्षा ने राज्य के विकास को धक्का पहुंचाया है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना कुप्रबंधन भी इसी का परिणाम है। उन्होंने स्पष्ट कहा कि कांग्रेस आलाकमान कमजोर है इसलिए बार बार कांग्रेस में उथल पुथल हो रही है। उन्होंने भाजपा कार्यकर्ता को स्वाभिमानी, परिश्रमी बताते हुए कहा कि भाजपा में नेताओं का सम्मान है।

यहां नेतृत्व का फैसला आलाकमान करता है और सभी अनुशासित होकर उसके पीछे चलते है।
पूनिया के दौरे में विधायक वासुदेव देवनानी, अनिता भदेल, सुरेश सिंह रावत, महापौर बृजलता हाडा, देहात अध्यक्ष देवीशंकर भूतड़ा, शहर अध्यक्ष डॉ. प्रियशील हाडा, उपमहापौर नीरज जैन सहित अनेक भाजपाई उपस्थित थे।

अजमेर में रासा सिंह रावत को श्रद्धाजंलि अर्पित

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डा सतीश पूनियां ने अजमेर में पूर्व सांसद रासा सिंह रावत की प्रतिमा पर पुष्प चढ़ाकर उन्हें श्रद्धाजंलि अर्पित की। डा पूनियां ने रावत के आवास पर पहुंचकर उनकी प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर अपनी श्रद्धाजंलि दी।

उन्होंने रावत के परिवार के सदस्यों को ढांढस बंधाया। इस मौके उन्होंने कहा कि देश के सबसे बड़े सदन में अजमेर की जनता का पांच बार प्रतिनिधित्व करने वाले रावत आमजन के हितों की निडर आवाज थे। उल्लेखनीय है कि रावत का गत दस मई को निधन हो गया था।

पूनिया शनिवार और रविवार दो दिवसीय दौरे पर रहकर अजमेर के अलावा भीलवाड़ा के जहाजपुर में पूर्व विधायक शिवजीराम मीणा एवं बनेड़ा में पूर्व सांसद हेमेन्द्र सिंह, लसाड़िया में विधायक गौतम मीणा, बांसवाड़ा में भवानी जोशी के भाई, गढ़ी में पूर्व प्रचारक नरेन्द्र सिंह तथा पूर्व मंत्री जीतमल खांट तथा डूंगरपुर में पार्टी के वरिष्ठ नेता हीरा लाल भील के निधन पर उन्हें श्रद्धाजंलि अर्पित करेंगे और उनके परिवार के सदसयों को ढांढस बंधाएंगे।