नरेन्द्र मोदी सरकार की जन कल्याणकारी नीतियों के प्रति किसानों का अटूट विश्वास : पूनियां

झुंझुनूं। राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने कहा है कि झुंझुनूं जिले के खेतड़ी में किसानों का इतना विशाल जनसमूह केन्द्र की मोदी सरकार की जन कल्याणकारी नीतियों के प्रति उनके अटूट विश्वास को दर्शाता है।

डा पूनियां आज खेतड़ी में शहीद रामकुमार गुर्जर की 50वीं पुण्यतिथि पर आयोजित विशाल ‘किसान सम्मेलन’ को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने शहीद रामकुमार की शहादत को नमन करते हुए कहा कि रामकुमार गुर्जर ने समाज के लिए शहादत दी, हे 36 कौम के किसान जननायक थे।

किसानों और मजदूरों के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले महापुरूष रामकुमार गुर्जर की पुण्यतिथि पर यहां किसान सम्मेलन का आयोजन करना और वह भी लगातार 50 सालों से यह राजस्थान और देश के लिए बहुत गर्व की बात है।

उन्होंने कहा कि शहीद रामकुमार गुर्जर की पुण्यतिथि पर इतनी विशाल संख्या में यहां किसानों की उपस्थिति दिखाती है कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जो किसानों को ध्यान में रखकर योजनाएं थी वह हमेशा किसानों के लिए प्रेरणादाई थीं।

पहली बार क्रेडिट कार्ड अटल बिहारी वाजपेयी ने ही किसानों को दिया था और किसानों की फसल बीमा व अन्य योजनाएं किसानों के लिए उन्होंने वरदान के रूप में दी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए हर संभव कदम उठाए हैं, जिनमें पीएम सम्मान किसान निधि, सॉइल हेल्थ कार्ड, एमएसपी से किसानों को आर्थिक उन्नति, किसान क्रेडिट कार्ड योजना का बड़े स्तर पर विस्तार कर किसानों को बड़ी सहूलियत आदि ऐतिहासिक फैसले हैं।

उन्होंने कहा कि खेतड़ी में किसानों का इतना विशाल जनसमूह मोदी सरकार की जन कल्याणकारी नीतियों के प्रति उनका अटूट विश्वास है।

इस अवसर पर सांसद सुखबीर सिंह जौनपुरिया, सांसद नरेन्द्र खींचड़, भाजपा के प्रदेश मंत्री महेंद्र यादव, पूर्व विधायक सुन्दरलाल काका, विधायक सुभाष पूनिया, जिला प्रमुख हर्षिनी कुल्हरी, अनूसूचित जाति मोर्चा जिलाध्यक्ष शिवकुमार जेवरिया, विश्वम्भर पूनिया, महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष सरोज श्योराण, अखिल भारतीय गुर्जर महासभा के प्रदेश अध्यक्ष पुरुषोतम फागना आदि मौजूद थे।

इसके बाद डॉ. पूनियां ने झुंझुनूं के भैसावता कलां पहुंचकर अमर शहीद सुजान सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित की व उनके परिवारजनों से मिलकर संवेदना व्यक्त की।