बीजेपी का गहलोत सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का ऐलान

जयपुर। राजस्थान में विधानसभा में विपक्ष के नेता गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि सदन में कांग्रेस सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया जाएगा और कोरोना कुप्रबन्धन, प्रदेश की बिगड़ी हुई कानून व्यवस्था, कर्जमाफी के नाम पर किसानों के साथ धोखा सहित प्रदेश के विभिन्न मुद्दों को विधानसभा में पुरजोर तरीके से उठाया जाएगा।

कटारिया ने आज यहां भारतीय जनता पार्टी भाजपा विधायक दल की बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत नैतिकता और लोकतंत्र की बात करते हैं, लेकिन प्रदेश और देश देख रहा है कि किस तरीके से महीनेभर से विधायकों को बदल-बदल कर होटल के बाड़ों में कैद कर रखा है और जयपुर एयरपोर्ट पर रस्सी लगाकर पुलिस के कड़े पहरे में विधायकों को बसों में बैठाकर होटल ले जाया गया।

उन्होंने कहा कि गहलोत कहते हैं कि उनके पास संख्या बल है और विधायकों को होटल के बाड़े में बंद रखकर वो इतिहास बनाने की भी बात कहते हैं, लेकिन उन पर अविश्वास करके होटल में उनके मोबाइल बंद करवा देते हैं, उन्हें एक-दूसरे से संवाद नहीं करने देते हैं, परिजनों से नहीं मिलने देते हैं, यह गहलोत का कैसा लोकतंत्र एवं नैतिकता है।

इस अवसर पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डा सतीश पूनियां ने कहा कि जिन विधायकों पर मुख्यमंत्री ने एसओजी का दुरूपयोग करके राजद्रोह एवं एसीबी में भ्रष्टाचार का केस दर्ज करवाया, फिर उन्हीं विधायकों को मुख्यमंत्री आवास पर बुलाकर मुख्यमंत्री एवं गृहमंत्री गहलोत उनसे मुलाकात करते हैं, इसका मतलब स्पष्ट है कि गहलोत ने षडयंत्रपूर्वक नाराज विधायकों को डराने-धमकाने के लिए एसओजी एवं एसीबी का दुरूपयोग किया।

उन्होंने कहा कि जनता की नजर में कांग्रेस सरकार नैतिक रूप से गिर चुकी है और भाजपा कोरोना कुप्रबन्धन, बिगड़ी हुई कानून व्यवस्था, किसान कर्जमाफी, महिला अपराध सहित विभिन्न जनहित के मुद्दों को लेकर विधानसभा में मुखर तरीके से कांग्रेस सरकार को घेरेगी और जवाब मांगेगी। उन्होंने कहा कि 32 दिन होटल के बाड़े में विधायकों पर किए गए खर्च का भी कांग्रेस सरकार से जवाब मांगेंगे।

राजस्थान संकट : मदन दिलावर की याचिका पर सोमवार तक सुनवाई टली