राजस्थान बोर्ड 2020-21 सत्र के लिए NCERT का ही पाठ्यक्रम लागू करेगा

अजमेर। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड शिक्षा सत्र 2020-21 के लिए एनसीईआरटी का ही पाठ्यक्रम लागू करेगा, इस पाठ्यक्रम के लिए पाठ्य पुस्तकों में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है।

अजमेर स्थित बोर्ड मुख्यालय पर अध्यक्ष डॉ. डीपी जारोली ने आज यहां पत्रकारों को बताया कि नवीन सत्र में कक्षा दसवीं एवं बारहवीं के लिए पाठ्य पुस्तकों में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है। जबकि कक्षा 9वीं एवं 11वीं एनसीईआरटी का पाठ्यक्रम लागू किया जा रहा है। पाठ्य पुस्तकें राजस्थान राज्य पाठ्य पुस्तक मंडल द्वारा प्रकाशित की जा रही है।

उन्होंने बताया कि पिछले सत्र में राज्य सरकार ने डॉ. बीएम शर्मा के संयोजन में चार सदस्यीय कमेटी का कक्षा नौ से बारह तक की पाठ्य पुस्तक पुनर्निरीक्षण के लिए गठन किया था जिसमें समिति ने आंशिक संशोधन का सुझाव दिया था। उन संशोधित पुस्तकों को गत शिक्षा सत्र में ही लागू किया गया और उस दौरान कहीं से भी पाठ्यक्रम को लेकर कोई आपत्ति नहीं आई।

डा़ जोरोली ने बताया कि पाठ्यक्रम में महाराणा प्रताप को लेकर विधानसभा में उठाए गए सवाल पर शिक्षा मंत्री ने संतोषजनक जवाब दिया। बोर्ड पाठ्यक्रम में महाराणा प्रताप पर विस्तार से उल्लेख किया गया। फिर भी वर्तमान में मीडिया में आ रहे मुद्दों पर तथ्यात्मक रिपोर्ट मांगी गई है।

उन्होंने बताया कि बोर्ड की सीनियर सेकेंडरी की परीक्षा लगभग पूर्णतः की ओर है। कोविड-19 महामारी के चलते बीस लाख से अधिक परीक्षार्थियों की परीक्षा आयोजित करना एक बड़ी चुनौती थी जिसे बोर्ड ने लॉकडाउन नियमों की पालना के साथ अतिरिक्त परीक्षा केंद्रों के गठन के साथ पूरा किया।