राज्यपाल कलराज मिश्र ने की लोगों से जहां हैं वहीं रूकने की अपील

जयपुर। राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने कोरोना वायरस के चलते लागू लाकडाउन में पलायन कर रहे लोगों से अभी कहीं नहीं जाने एवं जहां हैं वहीं रूकने की अपील की है।

मिश्र ने आज अपील करते हुए कहा कि लोग अभी कहीं नहीं जाएं, जहां हैं वहीं रुके रहे, प्रशासन ने लोगों की ठहरने खाने.पीने की पूरी व्यवस्था की हुई है। राज्यपाल ने कहा है कि संकट की यह घड़ी में सभी धैर्य बनाए रखें, घबराएं नहीं।

उन्होंने प्रदेशवासियों से निवेदन किया कि कोराना वैश्विक महामारी के इस समय में आप लोगों का अपने गांव या शहर जाना ठीक नहीं है। आप लोग अपने गांव में जाकर वहां अपने ही लोगों के लिए मुसीबत खड़ी करेंगे। इसलिए जहां हैं वही रहे। प्रशासन आपकी मदद के लिए तैयार है तत्पर है। आप लोगों की तकलीफ हम सभी की तकलीफ है। यदि कोई परेशानी है तो हेल्पलाइन्स पर फोन कीजिए आपको जल्दी ही सहायता पहुंचेगी।

उन्होंने कहा कि कल ही देवरिया कि कुछ लोग जो यहां चौमूं में रहकर मजदूरी कर रहे है उनका फोन आया मैंने उन्हें न जाने के लिए समझाया। वे मान गए। उनके रहने और भोजन की व्यवस्था के लिए विधायक से बात की। प्रशासन ने इन लोगों की पूरी व्यवस्था की और वे लोग अब यही है। उन्होंने अपने गांव न जाकर अपने गांव व परिवार की रक्षा की है साथ ही देश की सेवा भी की है।

उन्होंने कहा कि लोगों के पलायन करने से कोरोना वायरस के फैलने के अवसर बढ़ जाएंगे। हमें इस वायरस को फैलने से रोकना है। वायरस के प्रसार की श्रृखंला को तोड़ना है। इस वैश्विक महामारी को मात देना है।

मिश्र ने कहा कि यह संकट की घड़ी है। धैर्य रखने की घड़ी है। देश को मजबूत करने की घड़ी है। इसलिए घबराएं नहीं जहां है वहीं डटे रहें कोराना को हराएं उसे मात दें। उन्होंने कहा की मैंने मीडिया में एक साथ बहुत से लोगों को ट्रक में और पैदल जाते हुए देखा। यह देख मुझे दुख हुआ। मैं व्यथित हो गया हूं और चिंता भी हो रही है।

आप लोग इस परिस्थिति को समझे। हमें कोरोना से डरना नहीं है उससे लड़ना है। उसे पीठ दिखाकर भागना नहीं है। उसका सामना करना है। इसलिए आप लोग हिम्मत रखें। राज्य सरकार पूरी तरह आपके साथ खड़ी है। मैं लगातार राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से इस संबंध में किए जा रहे प्रयासों और व्यवस्थाओं की जानकारी ले रहा हूं। उन्हें विश्वास है कि हम सब एकजुट रहे तो यह संकट की घड़ी आसानी से निकल जाएगी।