राजस्थान में चुनाव की स्थिति | क्या होगा चुनाव का परिणाम 2018-2019

राजस्थान में चुनाव की स्थिति : राजस्थान में चुनाव को लेकर सभी पार्टियों के उम्मीदवार जोर शोर से काम कर रहे हैं और इस बार यह कह पाना मुश्किल है कि कौन सी पार्टी विजेता बनकर सामने आती है। और कौन सी हार का सामना करती है चुनाव के पहले की स्थिति ऐसी बनी हुई है कि पक्ष और विपक्ष दोनों ही अपने आप को विजय बनाने की कोशिश कर रहे हैं।

rajasthan jaipur election candidates public review and results 2018 2019
rajasthan jaipur election candidates public review and results 2018 2019

कई उमीदवार तो चुनाव होने के पहले ही खुद को विजेता घोषित कर चुके हैं। हालांकि यह कह पाना मुश्किल है कि इस बार राजस्थान में बीजेपी की सरकार आती है या कांग्रेस की या कोई और ही बाजी मार देता है।

जयपुर में चुनाव की स्थिति | क्या होगा चुनाव जयपुर में  चुनाव का परिणाम 2018-2019

अगर बात करें राजस्थान के जयपुर की तो आपको बता दें जयपुर की स्थिति कुछ इस प्रकार से बनी हुई है। जयपुर की सड़कों पर आप कहीं भी निकल जाएं आप को कांग्रेस के पोस्टर और कांग्रेस के कार्यकर्ता ही नजर आएंगे और कांग्रेस के बैनर भी हर बड़े और मुख्य स्थानों पर गड़े हुए हैं। कांग्रेसी इस बार राजस्थान में अपना पूरा जोर लगा रही है और बीजेपी को धरा शाही करने में लगी हुई है।

मोदी प्यारे वसुंधरा जा रे (सबगुरु.कॉम )

यदि बात करें इन के मुख्य मुद्दों की तो दोनों ही पार्टियां एक दूसरे की टांग खींचने से बाज नहीं आ रही हैं एक सर्वे के अनुसार जब जयपुर की जनता से पूछा गया कि वह किसकी तरफ है और किसकी नहीं तो बहुत ही अलग अलग जवाब सुनने को मिले कुछ जनता का कहना है कि वह भाजपा के ही पक्ष में हैं और दोबारा से भाजपा की सरकार ही चाहते हैं। कुछ का यह भी कहना है कि वह भाजपा की सरकार तो चाहते हैं लेकिन वसुंधरा को मुख्यमंत्री के रूप में नहीं चाहते और यदि पूछा जाता है कि आप मुख्यमंत्री वसुंधरा को नहीं चाहते तो आखिर किस को चाहते हैं तो इसका जवाब उनके पास नहीं रहता है।

पहले थे भाजपा के साथ लेकिन अब नहीं (सबगुरु.कॉम)

क्योंकि मुख्यमंत्री के रूप में अभी तक भाजपा ने कोई दूसरा नाम आगे नहीं किया है कई लोग ऐसे भी हैं जो पिछली बार भाजपा को जिता चुके हैं। लेकिन इस बार भाजपा के खिलाफ हैं और कुछ लोग तो यह मान कर बैठे हैं इस बार कांग्रेस की ही सरकार आएगी और राजस्थान का मुख्यमंत्री भी कांग्रेस का ही चुना जाएगा।

जयपुर में सोडाला में चुनावों के हालत कैसे है (सबगुरु.कॉम)

जयपुर की जनता भाजपा के काम से राजस्थान में खुश नहीं है और यह हाल लगभग राजस्थान के सभी शहरों का और गांव का है जयपुर के छोटे हिस्सों की बात करें जैसे कि सोडाला तो यहां पर कांग्रेस के उम्मीदवार प्रताप सिंह का नाम आ रहा है और इसके लिए कांग्रेसी काफी ज्यादा प्रयास भी कर रहे हैं।

मोदी से बेर नहीं बाकि की खेर नहीं (सबगुरु.कॉम)

वहीं कई लोगों का यह कहना है कि सरकार को काम करने में समय लगता है मोदी अपना काम पूर्ण निष्ठा से कर रहे हैं लेकिन भाजपा के कुछ छोटे नेता जिन लोगों ने अपना काम सही से नहीं किया उन लोगों की वजह से भाजपा हार सकती है।

भाजपा से व्यापारी पक्ष नाराज (सबगुरु.कॉम)

वहीं व्यापारी पक्ष भाजपा से नाराज हैं क्योंकि वह लोग जीएसटी को लेकर काफी ज्यादा गुस्से में है जीएसटी के चलते उनके व्यापार पर काफी ज्यादा दुष्प्रभाव पड़ा है जो कि उनके व्यापार को खराब करने का काम कर रहा है इस वजह से भाजपा के खिलाफ कई लोग जयपुर में लड़ रहे हैं।

जब जनता पूछा गया कि वह प्रधानमंत्री राहुल गांधी को चाहते हैं या नरेंद्र मोदी (सबगुरु.कॉम)

और कांग्रेस का साथ दे रहे हैं लेकिन जब उनसे पूछा गया कि वह प्रधानमंत्री राहुल गांधी को चाहते हैं या नरेंद्र मोदी को तो लगभग अधिकतर लोगों का यही जवाब आया कि वह प्रधानमंत्री तो नरेंद्र मोदी को ही चाहते हैं। इससे है तो साबित होता है कि लोगों को मोदी से बैर नहीं अन्य छोटे कार्यकर्ताओं से और उम्मीदवारों से है जिन्होंने अपना कार्य सही तरीके से नहीं किया।

अब इसके लिए आखिर मोदी को क्या करना चाहिए और क्या नहीं यह उनकी अपनी एक विचारधारा होगी लेकिन अभी भी राजस्थान की जनता मोदी से आस लगाए बैठी है अगली बार सरकार में आते हैं यानी प्रधानमंत्री बनते हैं अपने अधूरे काम पूरे जरूर करेंगे और राजस्थान के विकास के लिए कोई ना कोई नया और बड़ा ऐसा कदम उठाएंगे कि राजस्थान की जन को आगे किसी प्रकार की परेशानी ना हो अब यह कदम किस प्रकार के होते हैं यहां आने वाले चुनावी जीत के बाद ही पता चलेगा।

घोषणा पत्र निकल चुके हैं (सबगुरु.कॉम)

हालांकि इसके चलते घोषणा पत्र निकल चुके हैं दोनों पक्षों ने अपने अपने घोषणापत्र लोगों के बीच में निकाल दिए हैं। जिससे कई लोगों में नई उम्मीद बनी है और कई लोगों को यह झूठे वादे ही नजर आ रहे हैं।

दोनों पार्टियां चोर (सबगुरु.कॉम)

इसके बीच कुछ ऐसे लोग भी हैं जो कि दोनों पार्टियों को भी चुनना नहीं चाहते उनका कहना यह है। कि दोनों ही अपनी-अपनी जगह है काम नहीं करते हैं चुनाव के समय केवल वोट लेने आ जाते हैं और जब काम करने की बारी आती है तो अपनी शक्ल तक नहीं दिखाते। कई लोगों ने कई उम्मीदवारों के लिए अपशब्द का भी इस्तेमाल किया जो कि हम आपको बता नहीं सकते।

न्यूज़ मीडिया फेक (सबगुरु.कॉम)

वहीं लोगों का यह कहना है की न्यूज़ मीडिया फेक न्यूज़ चला कर लोगों को भड़कती है और कई लोगों का यह भी कहना है कि धर्म पर राजनीति करने वाले पक्ष कभी आगे नहीं बढ़ सकते धर्म पर राजनीति करने की बजाय यदि वह अपना काम ढंग से करें तो देश का भी विकास होगा और जनता भी खुश रहेगी।

सबगुरु न्यूज़ किसी के पक्ष में नहीं (सबगुरु.कॉम)

हमारा कार्य आप लोगों तक जनता की राय पहुंचाने का है हम किसी प्रकार से किसी भी पक्ष की ना तो आलोचना करते हैं ना कि तारीफ करते हैं हम केवल सत्य को और जो भी लोगों के बीच में हैं उनके विचारों को आपके सामने लाते हैं यदि आप इस बात से सहमत नहीं है तो चुनावी परिणाम का इंतजार करें उसके बाद खुद जान लें कि आखिर राजस्थान में किसकी सरकार आती है और किसकी नहीं।

कौन सा पक्ष है शैतान और कौन सा पक्ष है इंसान (सबगुरु.कॉम)

अब देखना है कौन सा पक्ष है शैतान और कौन सा पक्ष है इंसान लोग किसे चुनते हैं और किसे नहीं यह तो चुनाव के परिणाम ही बताएंगे यदि आप हमारी इस बात से सहमत हैं तो कृपया इस खबर को अधिक से अधिक अपने से जुड़े उन लोगों तक पहुंचाई है जो राजनीति में जागरूक हैं और जो जनता को सही उम्मीदवार देना चाहते हैं चाहे वह आपके पक्ष का हो चाहे विपक्ष का इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता क्योंकि स्वहित से पहले जनहित है।