पोकरण में तबलीगी जमात के पदाधिकारी मौलवी अब्दुल हयी के खिलाफ FIR दर्ज

जैसलमेर। राजस्थान में जैसलमेर जिले के पोकरण में पुलिस ने तबलीगी जमात के पश्चिमी राजस्थान के मुख्य पदाधिकारी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है।

पुलिस अधीक्षक किरन कंग ने आज बताया कि मौलवी अब्दुल हयी (48) कोरोना पोजिटिव पाया गया है। वह मार्च में सहारनपुर के देवबंद मदरसे में गया था। वहां से वह विभिन्न मरकजों में शामिल हुआ। इसके बाद वह राजस्थान के चूरू, टोंक आदि में तबलीगी जमात के साथ घूमा था। नई दिल्ली से तबलीगी जमात के जो लोग पोकरण आए थे, वे भी 23 से 26 मार्च तक यहां मदरसे में मौलवी के पास रुके थे।

उन्होंने बताया कि इस मौलवी अब्दुल के पास पुलिस टीम दो बार इस संबंध में जानकारी लेने के लिए गई थी, लेकिन दोनों बार उसने कोई जानकारी दी न ही पुलिस का सहयोग किया। इस पर उसके खिलाफ धारा 269, 270, 271, 188 और 51(बी) आपदा प्रबन्‍धन अधिनियम 2005 के तहत मामला दर्ज करके जांच शुरु कर दी है।

पोकरण में आठ और कोरोना पोजेटिव के केस

जैसलमेर जिले के पोकरण में गुरुवार को कोरोना पोजिटिव के आठ और मामले सामने आए।आधिकारिक सूत्रों ने बताया देर रात कोरोना के आठ और लोगों की रिपोर्ट पोजिटिव आई है। सुबह भी पांच मामले मिले थे। यहां तीन दिनों में कुल 27 कोरोना के संक्रमित पाये जा चुके हैं।

अजमेर : छात्रावास में ठहराए गए मजदूरों ने मचाया उत्पात

राजस्थान में अजमेर जिले के क्रिश्चिनगंज थाना क्षेत्र के पुष्कर रोड स्थित राजकीय बालिका छात्रावास में प्रशासन द्वारा ठहराए गए प्रवासी मजदूरों द्वारा उत्पात मचाने के मामले में पुलिस ने चार मजदूरों को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस सूत्रों आज बताया कि यहां ठहराए गए प्रवासी मजदूर माहौल खराब कर रहे थे। वे अन्य लोगों को यहां से जाने के लिए उकसाने तथा खाने के पैकेटों को खाने के बजाए कचरा पात्र में डाल रहे थे।

छात्रावास प्रबंधन की सूचना पर गुरुवार शाम सब इंस्पेक्टर बलबीर खान के अगुवाई में पहुंचे जाब्ता ने माधोगढ निवासी राम, शिवा, जगतसिंह और रिंकू को धारा 151 के तहत गिरफ्तार कर लिया।