राजस्थान पुलिस ने मध्यप्रदेश में दो करोड़ का गांजा पकड़ा

जयपुर। राजस्थान पुलिस की सीआईडी क्राइम ब्रांच की टीम ने मध्यप्रदेश के गुना थाना क्षेत्र में करीब दो करोड़ रुपए का अवैध गांजा बरामद किया है।

अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस डॉ रविप्रकाश मेहरडा ने बताया कि स्थानीय पुलिस की सहायता से इस बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए राजस्थान नंबर के एक ट्रक में जलपाईगुड़ी से तस्करी कर लाया जा रहा एक हजार किलोग्राम गांजा पकडा है। बरामद मादक पदार्थ की अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत लगभग दो करोड रुपए है। गुना पुलिस द्वारा ट्रक सवार तस्कर को एनडीपीएस एक्ट के तहत गिरफ्तार कर लिया गया।

डा मेहरड़ा ने बताया कि सीआईडी क्राइम ब्रांच की टीम को सूचना मिली थी कि झालावाड़ निवासी तस्कर महेंद्र सिंह ने राजस्थान में सप्लाई के लिए अवैध मादक पदार्थ की बड़ी खेप मंगवाई है। सूचना पर डीआईजी राहुल प्रकाश के निर्देशन व क्राइम ब्रांच के डीएसपी पुष्पेंद्र सिंह राठौड़ के सुपरविजन में एक विशेष टीम गठित की गई।

उन्होंने बताया कि शनिवार को टीम सरकारी गाड़ी से एमपी की तरफ रवाना हुई। सूचना के अनुसार पीछा कर रही सीआईडी टीम ने गुना से कुछ दूरी पहले राजस्थान नंबर के संदिग्ध ट्रक को रुकवाना चाहा तो ट्रक सवार तस्कर ने जान से मारने की नियत से पुलिस जीप पर ट्रक चढ़ाने की कोशिश की ओर भागने लगा। किसी प्रकार से टीम बाल-बाल बची।

उन्होंने बताया कि पुलिस ने आगे नाकाबंदी करवा ट्रक का पीछा जारी रखा। गुना बाईपास प्रसार भारती दूरदर्शन केंद्र के सामने नाकाबंदी में स्थानीय पुलिस ने ट्रक को रोक लिया। पीछा करती सीआईडी की टीम भी वहां पहुंच गई।

उन्होंने बताया कि ट्रक की तलाशी में 10-10 किलो के सौ पैकेट मिले, जिनमें गांजा भरा हुआ था। ट्रक सवार तस्कर बद्रीलाल यादव (41) निवासी गांव रतन खेड़ी थाना आगर मालवा मध्यप्रदेश से पूछताछ की गई तो उसने जलपाईगुड़ी के पास माता बंगा क्षेत्र से गांजा झालावाड़ के दाता का खेड़ा निवासी महेंद्र सिंह तथा आगर मध्य प्रदेश निवासी कमल सिंह एवं चेन सिंह ठाकुर के लिए लाना बताया।

अवैध मादक पदार्थ से भरा ट्रक जप्त कर तस्कर बद्री लाल यादव को एनडीपीएस एक्ट के तहत गुना पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया। अग्रिम कार्रवाई गुना पुलिस द्वारा की जा रही है।