नागौर : दो युवकों को बंधक बनाकर मारपीट के सात आरोपी अरेस्ट

जयपुर। राजस्थान में नागौर जिले के थाना पांचौड़ी थाना क्षेत्र में दो युवकों को बंधक बनाकर उनसे मारपीट करने एवं आपत्तिजनक वीडियो बनाकर वायरल करने के मामले में पुलिस ने सात आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस अतिरिक्त महानिदेशक डॉ. रवि प्रकाश ने आज बताया कि 16 फरवरी को करणू गांव में ओम ऑटो मोबाइल होण्डा मोटरसाईकिल एजेंसी में दोपहर में विसाराम नायक (24) और उसके चचेर भाई पन्नाराम के साथ एजेन्सी कर्मचारियों द्वारा बंधक बनाकर मारपीट की गई।

पीड़ित युवकों विसाराम और पन्नाराम ने लिखित रिपोर्ट पेश करके बताया कि वे 16 फरवरी को मोटरसाईकिल की सर्विस करवाने के लिये करीब 2.30 पीएम ऐजेन्सी पहुंचे। वहां वे मोटर साइकिल छोड़कर केश काउन्टर के पास से निकल रहे थे।

उसी दौरान एजेंसी के कर्मचारियों ने उन पर चोरी का आरोप लगाकर बैल्ट मुक्कों से मारपीट की एवं सर्विस सेन्टर के पीछे लोहे के पेचकश के आगे कपडा बांधकर विसाराम के निजी अंग में पेट्रोल डाला। साथ ही जाति सूचक गालिया देकर जान माल की धमकियां दी और ऐजेन्सी में बंधक बनाकर बैठा दिया।

विसाराम के बडे भाई दुर्गाराम को बुलाकर 5100 रुपए का जुर्माना लगाया। विसाराम की हालत खराब होने पर उसे अस्पताल ले जाया गया जहां प्राथमिक उपचार करवाकर उसे घर छोड़ दिया। पुलिस ने एससी एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज करके जांच वृत्ताधिकारी मुकुल शर्मा को सौंपी गई।

दूसरी और हनुमान सिंह राजपूत ने प्राथमिकी दर्ज कराते हुए बताया कि 16 फरवरी को ओम ऑटो मोबाइल्स में विशालाराम एवं पन्नाराम नायक मोटरसाइकिल से आए। इनमें से पन्नाराम मोटरसाइकिल के पास बाहर खड़ा रहा जबकि विशालाराम शोरुम के अन्दर आया। उस समय लंच समय था लिहाजा स्टाफकर्मी खाना खा रहे थे।

विशालाराम शोरुम का गल्ला तोड़कर पचास हजार रुपए निकाल कर भाग गया। सीसीटीवी फुटेज की जांच के बाद दोनेां को तलाश किया तो दोनों करणू चौराये पर मिल गए। वहां से उन्हें पकड़कर एजेन्सी पर लाया गया जहां उनसे थोड़ी मारपीट की।

उन्होंने बताया कि जांच के बाद पुलिस ने हनुमान सिंह राजपूत, आईदान सिंह, भीम सिंह तथा घटना में शामिल अन्य आरोपी छैल सिंह, रघुवीर सिंह, रहमतुल्लाह एवं छत्तर सिंह को गिरफ्तार कर लिया। मामले की जांच जारी है।