किरोडी लाल मीणा और उनकी पत्नी के खिलाफ दर्ज मामले वापस होंगे

Raje government has decided to withdraw cases lodged against mp kirodi lal meena and his wife mla golma devi
Raje government has decided to withdraw cases lodged against mp kirodi lal meena and his wife mla golma devi

जयपुर। राजस्थान सरकार ने भारतीय जनता पार्टी के राज्यसभा के सांसद किरोडी लाल मीणा और उनकी पत्नी गोलमा देवी के खिलाफ पुलिस में दर्ज आपराधिक मामले वापस लेने की कार्यवाही शुरू कर दी है।

अधिकृत सूत्रों के अनुसार चुनावी साल में राजस्थान की भाजपा सरकार ने बड़ा फैसला करते हुए राज्यसभा सांसद किरोड़ीलाल मीणा और विधायक गोलमा देवी के खिलाफ दर्ज सभी मामले वापस लेने का मानस बना लिया है।

बताया जाता है कि इसके तहत राज्य सरकार की ओर से हाल ही में जयपुर, दौसा, अलवर और सवाई माधोपुर के जिला कलेक्टर और पुलिस अधीक्षकों से दोनों जनप्रतिनिधियों के खिलाफ दर्ज मामलों की रिपोर्ट मांगी गई थी।

जिला प्रशासन की ओर से प्रेषित रिपोर्ट सरकार को मिल चुकी है। इस रिपोर्ट के आधार पर दोनों के खिलाफ मारपीट, अभद्रता और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने जैसे सभी मुकदमे वापस लेने का मानस बना लिया है।

सूत्रों के अनुसार राज्य सरकार द्वारा सांसद किरोडी लाल मीणा पर लगे यौन शोषण के मामले को वापस नहीं लिए जाने का संकेत मिला है। मीणा पर 21 साल की युवती ने दो साल पूर्व बारह लोगों के खिलाफ थाने में गैंगरेप का केस दर्ज कराया था।

जयपुर पुलिस ने गैंगरेप के इस मामले को जांच के लिए सीआईडी के क्राइम ब्रांच को सौंप दिया था। इस प्रकरण में मीणा समेत अन्य आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 376डी, 366, 344 और 323 के तहत केस दर्ज है।

उल्लेखनीय है कि मीणा ने अपनी पार्टी राजपा का भारतीय जनता पार्टी में विलय कर दिया था जिसके बाद उन्हें पार्टी की ओर से राज्यसभा का सांसद बनाया गया था। उसके बाद से ही इन मामलों को वापस लेने के लिए सरकार पर दबाव बना हुआ था।