पार्टी में है मतभेद पर मनभेद नहीं : राजेन्द्र सिंह राठौड़

जयपुर। राजस्थान विधानसभा में उप नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि विपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया के साथ हम सभी एकजुट हैं और पार्टी में कोई कलह नहीं है। उन्होंने कहा कि मतभेद हो सकते हैं, लेकिन मनभेद नहीं है और ना ही पार्टी में कोई गुटबाजी है।

विधानसभा के बाहर आज मीडिया से रूबरू हुए नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने कहा कि आज राज्य के लाखों किसान ऋण माफी नहीं होने से परेशान हैं। बाइस लाख ऐसे किसान हैं, जिनकी जमीन नीलामी की ओर बढ़ रही है। हम इन मुद्दों पर सरकार को सदन में घेरने का प्रयास करेंगे।

इससे पूर्व विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया की अध्यक्षता में पार्टी विधायक दल की बैठक हुई। बैठक में उप नेता प्रतिपक्ष राठौड़ सहित कई भाजपा विधायक मौजूद रहे। बैठक में एक ओर भाजपा विधायक कैलाश मेघवाल के पत्र को लेकर मंथन किया गया। साथ ही सदन में यह मुद्दा उठने पर किस तरह सत्ता पक्ष को जवाब देना है, इसकी रणनीति तैयार की गई। सरकार को दूसरे मुद्दों पर घेरकर इस मुद्दे से ध्यान हटाने पर भी चर्चा की गई।

उन्होंने बताया कि किसानों की कर्ज माफी, बेरोजगार युवाओं को नौकरियां, बेरोजगारी भत्ता, प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति, बिजली संकट जैसे मुद्दों पर भी तैयारी की गई। हालांकि पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने पारिवारिक कारणों के चलते बैठक में हिस्सा नहीं लिया।

विपक्ष की ओर से भाजपा में कलह के आरोपों पर राजेंद्र राठौड़ ने कहा कि जब सदन चलेगा तो सब बात सामने आ जाएगी। उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि जब उन्हीं के विधायक के कहते हैं कि अगर आपने हमारे कहने से पुलिस उपाधिक्षक अधीक्षक और थानेदार नहीं लगाए, तो हम समर्थन वापस ले लेंगे। इस तरह की आपाधापी मैंने जीवन में नहीं देखी।