Rajiv Gandhi assassination : दोषी नलिनी और मुरुगन ने की इच्छा मृत्यु की मांग

rajiv gandhi murder convicts plead for mercy killing sent a letter to pm modi
rajiv gandhi murder convicts plead for mercy killing sent a letter to pm modi

वेल्लोर। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी गांधी हत्याकांड में दोषी नलिनी श्रीहरन और मुरुगन ने इच्छामृत्यु की मांग उठाई है। श्रीहरन और मुरुगन ने मद्रास हाई कोर्ट से इच्छा मृत्यु की मांग की है। नलिनी ने 27 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस अमरेश्वर प्रताप साही को एक पत्र लिखा था। इसमें नलिनी ने जेल कर्मचारियों पर बुरा बर्ताव करने का आरोप लगाया और वेल्लोर जेल से शिफ्ट करने की मांग की थी।

बता दें, जेल अधिकारियों ने मुरुगन के पास से मोबाइल फोन बरामद होने के बाद उसे अकेले कारावास में शिफ्ट कर दिया था। इसके बाद से मुरुगन और नलिनी पिछले 10 दिनों से उपवास पर हैं। इससे अत्यधिक तनाव की वजह से नलिनी के वकील पुगाझेंडी ने कहा कि इसलिए उन्होंने इच्छामृत्यु की मांग उठाई है।

राजीव गांधी हत्या के दोषी
सात दोषियों में एजी पेरारिवलन, वी श्रीहरन उर्फ ​​मुरुगन, टी सुतेन्द्रराज अलैस संथान, जयकुमार, रॉबर्ट पायस, रविचंद्रन और नलिनी श्रीहरन (वी श्रीहरन की पत्नी) शामिल है। इनमें भारतीय और श्रीलंकाई दोनों शामिल हैं। ये सभी आरोपी साल 1991 से जेल में बंद हैं। बता दें, चेन्नई के पास एक चुनावी रैली में एक महिला लिट्टे के आत्मघाती हमलावर ने खुद को उड़ा लिया था। इस रैली में राजीव गांधी की मौके पर ही मौत हो गई थी।