कश्मीर घाटी में एक तरफा युद्ध विराम पर करेंगे विचार : राजनाथ

Rajnath Singh to talk to J&K CM Mehbooba Mufti on unilateral ceasefire appeal

लखनऊ। कश्मीर घाटी में अशांति फैलाने वालाें के खिलाफ सख्ती से निपटने का संकल्प दोहराते हुये केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को कहा कि रमजान और अमरनाथ यात्रा के मौके पर एक तरफा युद्ध विराम की मांग पर गौर किया जाएगा।

मोहनलालगंज में 125 बटालियन परिसर में गैर आवासीय भवनों एवं अधिकारी मेस, अधीनस्थ अधिकारी मेस, चिकित्सालय और क्वार्टर गार्ड का उद्घाटन करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में सिंह ने कहा कि कश्मीर घाटी में अशांति फैलाने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। एक सवाल के जवाब में उन्होने कहा कि रमजान और अमरनाथ यात्रा के मौके पर एक तरफा युद्ध विराम की मांग पर गौर किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि पहली दिसंबर 1965 को सीमा सुरक्षा बल की स्थापना की गई थी तब से लेकर आज तक यह अपने दायित्वों का कुशलता पूर्वक निर्वाहन करता आया है और आज राष्ट्र के विश्वास का पर्याय बन गया है।

सिंह ने कहा कि लखनऊ शिक्षा और चिकित्सा जैसे क्षेत्रों में महत्वपूर्ण स्थान रखता है। सीमा सुरक्षा बल के जवान यहां बने मकानों में अपने परिवार को सुरक्षित रखकर अपने कर्तव्यों का पालन कर सकेंगे। सीमा सुरक्षा बल की 261 की लोकेशन पॉइंट के स्थापना की मंजूरी दे दी गई है।

गृहमंत्री ने इस मौके पर सीमा सुरक्षा बल के जवानों और उनके परिजनों से मुलाकात की और परिसर में वृक्षारोपण किया। क्षेत्रीय सांसद कौशल किशोर और बीएसएफ के महानिदेशक केके शर्मा सहित बड़ी संख्या में अधिकारीगण इस मौके पर मौजूद रहे।