पाकिस्तान की भूमि से आतंकवादियों को मदद बंद हो : राजनाथ सिंह

Rajnath Singh Warning Stop help of terrorists from Pakistan's land
Rajnath Singh Warning Stop help of terrorists from Pakistan’s land

तेलंगाना । केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान की भूमि से आतंकवाद को बढ़ावा देने के प्रति चेतावनी दी और कहा कि अगर वह(पाकिस्तान) इससे अकेले निपटने में सक्षम नहीं है तो भारत सहायता देने के लिए तैयार है।

सिंह ने मंगलवार को यहां चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा पाकिस्तान की भूमि से आतंकवाद को बढ़ावा बंद होना चाहिए और ऐसा न होने पर भारत इतना दबाव बनायेगा कि पाकिस्तान को आतंकवादी गतिविधियों के खिलाफ कार्रवाई करने को मजबूर होना पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि यदि पाकिस्तान अकेले अपनी भूमि से आतंकवादी गतिविधियों को रोक पाने में सक्षम नहीं है तो भारत उसे मदद देने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा , “ एक समय था जब भारत को कमजोर देश समझा जाता था, किंतु अब बदलाव हो चुका है । पांच साल पहले केंद्र में नरेंद्र मोदी की अगुवाई में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार बनने के बाद से पहले की स्थिति नहीं रह गई है। भारत की पहचान अब एक कमजोर नहीं मजबूत देश के रुप में स्थापित हो चुकी है। ”

सिंह ने अपने संबोधन में उरी और पुलवामा के हमलों का जिक्र करते हुए कहा कि इसका मुंह तोड़ जवाब दिया गया। उरी में वायुसेना के शिविर पर पाकिस्तानी के आतंकवादियों के हमले का जवाब भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक करके दिया। पुलवामा में 14 फरवरी को केंद्रीय सुरक्षा पुलिस बल(सीआरपीएफ) के काफिले पर आत्मघाती आंतकवादी हमले का जवाब बालाकोट में हवाई कार्रवाई करके आतंकवादियों के अड्डे को तहस-नहस करके दिया गया। बालाकोट हवाई कार्रवाई में बड़ी संख्या में आतंकवादी मारे गए।

पाकिस्तान को आतंकवादियों को प्रशिक्षण रोकने की सलाह देते हुए सिंह ने कहा कि वहां की धरती से आतंकवादियों को खत्म होना चाहिए। सिंह ने कहा कि मोदी की सरकार के पांच साल के कार्यकाल में देश विश्व में सबसे तेज आर्थिक गति हासिल करने वाला देश बना। भारत की पहचान अब विश्व में एक शक्तिशाली राष्ट्र के रुप में है। लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवारों को विजयी बनाने की अपील करते हुए सिंह ने कहा कि विधानसभा चुनाव में मतदाताओं ने तेलंगाना राष्ट्र समिति को विजयी बनाया और आम चुनाव में भाजपा प्रत्याशियों को जीताकर मोदी की अगुवाई में केंद्र में बनने वाली सरकार के लिए हाथ मजबूत करें।