भीम में नाकाबंदी के दौरान हमले में दो पुलिसकर्मी घायल

राजसमंद/अजमेर। राजस्थान में राजसमंद जिले के भीम कस्बे में उदयपुर में कन्हैयालाल हत्याकांड मामले में नाकाबंदी के दौरान आज धारदार हथियार से हमलाकर दो पुलिसकर्मी घायल हो गए।

प्राप्त जानकारी के अनुसार भीम थाना क्षेत्र के बदनौर चौराहे पर नाकाबंदी के दौरान आए एक युवक ने अपने थैले से धारदार हथियार निकालकर पुलिसकर्मियों पर हमला कर दिया।

हमले में पुलिस कांस्टेबल बजाराम गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल कांस्टेबल को ब्यावर अस्पताल ले जाया गया जहां से उसे अजमेर के जेएलएन हॉस्पिटल के लिए रैफर कर दिया गया। हमले में एक आरएसी का जवान प्रकाश चन्द्र भी घायल हो गया।

घटना के बाद पुलिस एवं स्थानीय नागरिकों के सहयोग से हमलाकर भाग रहे आरोपी को पकडकर पुलिस के हवाले कर दिया गया हैं। आरोपी भीलवाडा का रहने वाला गजेन्द्रसिंह बताया जा रहा है।

गौरतलब है कि उदयपुर हत्याकांड के मामले राजसमंद के देवगढ एवं भीम में तनाव व्याप्त है। दोनों कस्बों में गत 28 जून से जारी नेटबंदी अभी तक चालू नहीं किया गया है।

बीते बुधवार को उदयपुर में हुए हत्याकांड के विरोध में भीम में भी प्रदर्शन हो रहे थे। इसे रोकने की कोशिश कर रहे पुलिस के एक कांस्टेबल पर भीड़ ने तलवार से हमला कर दिया था। इस मामले में पुलिस ने 23 लोगों को अरेस्ट किया है।

इनकी रिहाई की मांग कर रहे प्रदर्शनकारियों ने सोमवार को सांसद दीया कुमारी के नेतृत्व में एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान भीम के पूर्व विधायक हरि सिंह रावत, पुष्कर के विधायक सुरेश रावत, आसींद के विधायक जब्बर सिंह, कुंभलगढ़ के विधायक सुरेंद्र सिंह राठौड़ सहित कई भाजपा कार्यकर्ता मौजूद थे।