संवैधानिक संस्थानों पर उंगली उठाना कांग्रेस की परंपरा: सिंह

rakesh Singh talks Congressional tradition of fingerprinting on constitutional institutions
rakesh Singh talks Congressional tradition of fingerprinting on constitutional institutions

भोपाल । हाल ही में संपन्न हुए मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) को लेकर कांग्रेस द्वारा किए जा रहे प्रोपेगंडा पर आज भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने आपत्ति जताते हुए कहा कि संवैधानिक संस्थाओं पर उंगली उठाना कांग्रेस की परंपरा का हिस्सा है।

सिंह ने यहां जारी विज्ञप्ति में कहा कि कांग्रेस का यह इतिहास रहा है कि वह संवैधानिक संस्थाओं पर प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष आरोप लगाकर उनकी गरिमा को भंग करती रहती है। संवैधानिक व्यवस्था के तहत चुनाव आचार संहिता के दौरान सारा कंट्रोल चुनाव आयोग के पास होता है। किसी राजनीतिक दल अथवा सरकार का चुनाव संचालन और अन्य व्यवस्थाओं में कोई दखल नहीं होता। इसके बावजूद कांग्रेस अनर्गल प्रलाप कर भ्रम की स्थिति पैदा कर रही है।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस के नेताओं को पता है कि वह बुरी तरह हार का सामना करने वाले हैं, इसलिए कांग्रेस के लोगों ने मतदान के दिन से ही ईवीएम को लेकर प्रलाप करना शुरु कर दिया है। यह कांग्रेस का शगल बन गया है की जब हार रहे हैं, तो ईवीएम को दोष देना शुरू कर दो और जब जीत रहे हैं, तो ईवीएम पर चुप्पी साधे रहो।

सिंह ने सवालिया लहजे में कहा कि यदि ईवीएम कांग्रेस के विरुद्ध ही चलती है तो पंजाब में कांग्रेस की सरकार कैसे बनी, यदि ईवीएम भाजपा के समर्थन में ही काम करती है, तो फिर भाजपा को किसी भी चुनाव क्षेत्र में पराजित नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि सच्चाई यह है कि कांग्रेसी घपले घोटालों के अपने काले अध्याय से बाहर नहीं आना चाहते है।