रक्षाबंधन पर नहीं रहेगा भद्रा का साया, बहनें दिनभर बांध सकेंगी राखी

raksha bandhan 2018 : date and significance for the festive occasion
raksha bandhan 2018 : date and significance for the festive occasion

सबगुरु न्यूज। इस बार रक्षाबंधन पर बहनें बेफिक्र होकर पूरे दिन अपने भाइयों को राखी बांध सकेंगी। क्योंकि इस बार 26 अगस्त को मनाए जाने वाले भाई-बहन के अटूट प्रेम के पर्व रक्षाबंधन पर भद्रा का साया नहीं रहेगा।

रक्षाबंधन श्रावण शुक्ला पूर्णिमा दिनांक 26 अगस्त 2018 को है। इस दिन पूर्णिमा शाम 5 बजकर 26 मिनट तक होने से यह त्योहार दिन भर मनाया जाएगा। इस दिन सूर्योदय से पूर्व ही भद्रा समाप्त हो जाने से बहनें दिनभर भाइयों की कलाई पर राखी बांध सकेंगी। राखी बांधने का श्रेष्ठतम मुहूर्त सुबह 7 बजकर 45 मिनट से दिन को 12 बजकर 55 मिनट तक रहेगा।

श्रावण मास की पूर्णिमा वैसे दिनांक 25 अगस्त को शाम 3 बजकर 16 मिनट बाद शुरू हो जाएगी तथा भद्रा भी 3 बज कर 16 मिनट पर शुरू हो जाएगी जो प्रात 4 बज कर 21 मिनट तक रहेगी। सूर्योदय व्यापिनी तिथि होने के कारण रात में भी राखी बांधी जा सकेगी। यह संयोग 4 साल बाद बना है। जब रक्षाबंधन पर भद्रा का साया नहीं रहेगा।

26 अगस्त 2018 को पूर्णिमा शाम के 5 बजकर 25 मिनट तक रहेगी। 26 तारीख में भद्रा नहीं है तथा घनिष्ठा नक्षत्र रहेगा जो पंचक का नक्षत्र है। रक्षा बन्धन में बाधक नहीं होता है अतः राखी का त्योहार 26 अगस्त को दिनभर रहेगा।

सौजन्य : ज्योतिषाचार्य भंवरलाल, जोगणियाधाम पुष्कर