मिताली ने विश्वकप के बीच में संन्यास की धमकी दी थी: पोवार

Ramesh Powar blame Mithali threatened to retire in World Cup
Ramesh Powar blame Mithali threatened to retire in World Cup

मुंबई । भारतीय बल्लेबाज़ मिताली राज और मुख्य कोच रमेश पोवार के बीच का विवाद बेहद खराब शक्ल अख्तियार करता जा रहा है और पोवार ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड(बीसीसीआई) को दी गयी अपनी आधिकारिक रिपोर्ट में कहा है कि मिताली ने धमकी दी थी कि यदि उन्हें अोपनिंग नहीं करने दी गयी तो वह विश्वकप के बीच से ही हट जाएंगी और संन्यास ले लेंगी।

पोवार ने अपनी रिपोर्ट में यह भी कहा कि मिताली को कोचों को ब्लैकमेल करना और उनपर दबाव डालना बंद कर देना चाहिये। उन्होंने भारत की वनडे कप्तान पर आरोप लगाया कि वह अपने व्यक्तिगत हितों को टीम हितों पर प्राथमिकता देती थीं।

कोच ने विश्वकप को लेकर अपनी आधिकारिक रिपोर्ट बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी और क्रिकेट संचालन प्रमुख सबा करीब को ईमेल करने से पहले उनसे मुख्यालय में मुलाकात की। पोवार की रिपोर्ट उतनी ही विस्फोटक है जितना मिताली का इस सप्ताह के शुरू में जौहरी और करीम को भेजा गया पत्र था जिसमें उन्होंने पोवार पर उनके करियर को समाप्त करने की धमकी देने का आरोप लगाया था।

पोवार ने मिताली पर आरोप लगाते हुये रिपोर्ट में कहा,“ वह टीम बैठक में कोई सलाह नहीं देती थी। लीग में टॉप करने के बावजूद उन्होंने सराहना का एक शब्द नहीं कहा। वह टीम प्लान को मानती नहीं थी और अपने कीर्तिमानों को लेकर बल्लेबाजी करती थी। उनकी वजह से दूसरे बल्लेबाजों पर दबाव आता था जबकि एक कोच के तौर पर मैंने उनकी बल्लेबाजी को सुधारने पर कड़ी मेहनत की थी।”

पोवार ने मिताली पर काेचिंग स्टाफ के साथ साठगांठ करने का आरोप लगाया ताकि वह टीम के मुकाबले खुद बेहतर स्थिति में रह सकें। उन्होंने कहा,“ मैं उम्मीद करता हूं कि मिताली कोचों को ब्लैकमेल करना और उनपर दबाव बनाना बंद कर दें। मैं यह भी उम्मीद करता हूं कि वह भारतीय महिला क्रिकेट की बेहतरी के लिये काम करेंगी।”

कोच ने यह भी कहा कि मिताली ने पाकिस्तान के खिलाफ दूसरे ग्रुप मैच से पहले धमकी दी थी कि यदि उन्हें ओपनिंग नहीं करने दी जाती है तो वह संन्यास ले लेंगी और स्वदेश लौट जाएंगी। मिताली ने टूर्नामेंट के पहले मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ ओपनिंग नहीं की थी और उस मैच में भारत ने विश्व ट्वंटी 20 का सबसे बड़ा स्कोर बनाया था। उन्हें साफतौर पर बताया गया था कि उन्हें मध्यक्रम में बल्लेबाजी करनी होगी।

पोवार ने रिपोर्ट में कहा,“ मैं यह जानकर स्तब्ध हो गया कि मिताली ने जब यह कहा कि वह बीच में ही विश्वकप छोड़ देंगी और करियर से संन्यास ले लेंगी। वीडियो विश्लेषक पुष्कर सावंत इस खबर के साथ मेरे कमरे में आये कि फील्डिंग कोच बीजू जार्ज ने उन्हें बताया है कि मिताली उनका बल्लेबाजी क्रम नहीं बदले जाने और उन्हें पाकिस्तान के खिलाफ ओपनिंग की अनुमति नहीं देने से नाराज़ थीं। उन्होंने अपना सामान बांध लिया है।”

उन्होंने कहा,“ मैं समझ नहीं पा रहा था कि मिताली ऐसा क्यों कर रही हैं। हमने न्यूजीलैंड जैसी शीर्ष टीम को हराया है और मिताली अपने बल्लेबाजी क्रम को लेकर शिकायत कर रही हैं और धमकी दे रही हैं। हमें ऐसे सीनियर खिलाड़ी के व्यवहार से दुख हुआ जो टीम के हितों से अधिक अपनी परवाह कर रहा है।”