हॉकी इंडिया ने टोक्यो ओलंपिक के लिए रानी को सौंपी महिला हॉकी टीम की कप्तानी

नई दिल्ली। हॉकी इंडिया ने अनुभवी स्ट्राइकर रानी को सोमवार को टोक्यो ओलंपिक में भारतीय महिला हॉकी टीम का प्रतिनिधित्व करने वाली 16 सदस्यीय टीम का कप्तान नियुक्त किया है। रानी न केवल अपने ऑन-फील्ड प्रदर्शनों के लिए, बल्कि टीम में युवाओं का मार्गदर्शन करने की अपनी सहज क्षमता के लिए भी कप्तान के रूप में पहली पसंद हैं।

हॉकी इंडिया ने इसके अलावा बेहद भरोसेमंद डिफेंडर दीप ग्रेस एक्का और अनुभवी गोलकीपर सविता को महिला टीम के दो उप कप्तानों के रूप में नियुक्त किया है। दोनों खिलाड़ी लगभग एक दशक से इंडियन कोर ग्रुप में हैं और लीडरशिप ग्रुप का अभिन्न हिस्सा रहे हैं। उन्होंने भारत की शानदार जीतों में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। दोनों ने एफआईएच महिला विश्व कप में एक प्रभावशाली प्रदर्शन के बाद 2018 में करियर की सर्वश्रेष्ठ नौ रैंकिंग हासिल की थी।

उल्लेखनीय है कि रानी की कप्तानी में भारतीय महिला हॉकी टीम ने पिछले चार वर्षों में महत्वपूर्ण परिणाम हासिल किए हैं, जिसमें 2017 में एशिया कप जीतना, एशियाई खेलों 2018 में रजत पदक जीतना, एशियाई चैंपियंस ट्रॉफी 2018 में रजत और साथ ही 2019 में एफआईएच सीरीज का फाइनल जीतना शामिल है।

रानी के नेतृत्व वाली टीम ने पहली बार लंदन में एफआईएच महिला विश्व कप 2018 के क्वार्टर फाइनल में भी जगह बनाई थी। वह भुवनेश्वर में एफआईएच ओलंपिक क्वालीफायर के दौरान भारत के प्रदर्शन का केंद्र बिंदु थीं, जहां उनके गोल ने टीम को क्वालीफिकेशन के लिए अमेरिका के खिलाफ 6-5 से आगे कर दिया था।

भारतीय महिला टीम के मुख्य कोच शुअर्ड मरिने ने तीनों खिलाड़ियों को उनके लीडरशिप रोल के लिए बधाई देते हुए कहा कि मैं रानी को टोक्यो ओलंपिक खेलों 2020 के लिए भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान बनाए जाने पर बधाई देता हूं। मैं दीप ग्रेस एक्का और सविता को भी टीम का उप कप्तान बनने पर बधाई देता हूं। ये तीनों खिलाड़ी लंबे समय से नेतृत्व समूह का हिस्सा रहे हैं और उन्होंने इस अतिरिक्त जिम्मेदारी के साथ अपनी क्षमताओं को साबित किया है और कोर ग्रुप में कई युवाओं का मार्गदर्शन किया है।

दो उप कप्तान होने से भविष्य के लिए कोर लीडरशिप ग्रुप भी मजबूत होगा। उनका अनुभव और भूमिका महत्वपूर्ण होगी, क्योंकि हमारा लक्ष्य टोक्यो में अच्छे परिणाम हासिल करना है। टीम के लिए यह एक लंबा सफर रहा है और हम ओलंपिक में कड़ी चुनौती का सामना कर रहे हैं। टीम को मानसिक रूप से मजबूत होने की जरूरत है और मुझे विश्वास है कि ये तीनों खिलाड़ी सही दिशा में आगे बढ़ रहे हैं।

रानी ने कप्तान बनने पर आभार व्यक्त करते हुए कहा कि टोक्यो ओलंपिक खेलों 2020 में भारतीय टीम का नेतृत्व करना एक बहुत बड़ा सम्मान है। पिछले कुछ वर्षों में एक कप्तान के रूप में मेरी भूमिका टीम के साथियों के साथ आसान हो गई है, जिन्होंने वरिष्ठ खिलाड़ियों के रूप में जिम्मेदारियों को साझा किया है। मैं इस अतिरिक्त जिम्मेदारी के लिए तत्पर हूं और इस सम्मान के लिए हॉकी इंडिया, कोचिंग स्टाफ और चयनकर्ताओं को धन्यवाद देती हूं।

उप कप्तान दीप ग्रेस एक्का ने कहा कि यह नई जिम्मेदारी मुझे यह सुनिश्चित करने के लिए प्रेरित करेगी कि टीम टोक्यो में अच्छा प्रदर्शन करे। ओलंपिक में उप कप्तान के रूप में भारत का नेतृत्व करना एक बहुत बड़ा सम्मान है और यह निश्चित रूप से मुझे टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित करेगा। हमारे पास टीम में भारत के विभिन्न क्षेत्रों के खिलाड़ी हैं, लेकिन हम पिछले 15 महीनों में महामारी के दौरान एक इकाई के रूप में करीब आए हैं।

सविता ने भी अपनी कृतज्ञता व्यक्त करते हुए कहा कि मुझे यह जिम्मेदारी देने के लिए मैं टीम के सपोर्ट स्टाफ और हॉकी इंडिया का शुक्रिया अदा करती हूं। हम सभी टोक्यो में ओलंपिक में अच्छा प्रदर्शन करने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं और भारत को जीत दिलाना बहुत अच्छा होगा।