राष्ट्र सेविका समिति ने किया चिकित्सकों को सम्मानित

नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की महिला शाखा राष्ट्र सेविका समिति की प्रमुख संचालिका (अध्यक्ष) शांता अक्का ने कहा है कि जिस तरह से देश के पहले गृहमंत्री सरदार पटेल ने सामाजिक विषमताओं को दूर कर देश में एकता और अखंडता की स्थापना की, उसी देशप्रेम के भाव से कोरोना महामारी के खिलाफ हमारे चिकित्सक लगातार डटकर जंग लड़ रहे है।

राष्ट्र सेविका समिति की ओर से रविवार को यहां आयोजित चिकित्सक सम्मान समारोह के दौरान अपने संबोधन में अक्का ने कहा कि विकसित देशों की तरह ही हमारे डॉक्टर समक्ष है। डॉक्टरों ने बिना अपेक्षा के, निर्मल मन और निस्वार्थ भाव से दिन-रात समाज सेवा का कार्य किया है। उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति की यही विशेषता है कि वह निरपेक्ष भाव से समाज हित के लिए कार्य करती है।

कार्यक्रम में उपस्थित पूर्व स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने चिकित्सकों और स्वास्थ्य कर्मियों की सराहना करते हुए कहा कि इन्होंने कोरोना में रात दिन मरीजों की सेवा की। कोरोना युद्ध में इन्होंने बिना किसी स्वार्थ व प्रचार के कार्य किया है। चिकित्सकों का सहयोग असाधारण रहा है।

उन्होंने कहा कि विषम परिस्थितियों में भी डॉक्टर दो हफ्ते की ड्यूटी करने के बाद क्वारंटीन हुए। किसी भी परिवार ने ऐसा नहीं कहा कि हमारे परिवार के डॉक्टर कोविड मरीजो लिए कार्य नहीं करेंगे। यह अपने आप में एक बहुत बड़ा समाज सेवा का उदाहरण है जहां परिवारों ने चिकित्सकों को प्रोत्साहित कर लोगों को कोरोना से बचाव के लिए प्रेरित किया। कार्यक्रम में लगभग 70 चिकित्सकों का सम्मान किया गया।