राष्ट्रीय लोक दल संस्थापक चौधरी अजीत सिंह का कोरोना से निधन

नई दिल्ली। राष्ट्रीय लोक दल के संस्थापक अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी अजित सिंह का कोरोना संक्रमण के कारण बृहस्पति वार सुबह निधन हो गया। वह 82 वर्ष के थे। चौधरी अजित सिंह के पुत्र और पूर्व सांसद जयंत चौधरी ने एक ट्वीट में यह जानकारी दी।

चौधरी अजीत सिंह कोरोना संक्रमण से पीड़ित थे। उन्हें 20 अप्रैल को हालत बिगड़ने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वह हरियाणा में गुरुग्राम के एक निजी अस्पताल के आईसीयू में थे। उन्हें फेफड़ों का संक्रमण था।

पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के पुत्र और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रमुख नेता माने जाने वाले चौधरी अजीत सिंह किसानों की आवाज माने जाते थे। उनका जन्म 12 फरवरी 1939 को हुआ था।

चौधरी अजीत सिंह पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई, डॉ मनमोहन सिंह और पीवी नरसिंह राव की सरकारों में केंद्रीय मंत्री रहे। उन्होंने कृषि और नागरिक उड्डयन जैसे महत्वपूर्ण मंत्रालयों का प्रभार संभाला। वह पश्चिमी उत्तर प्रदेश की बागपत संसदीय सीट से लोकसभा के लिए चुने जाते थे।

चौधरी अजीत सिंह का जन्म 12 फरवरी, 1939 को मेरठ में हुआ था। किसानों के मसीहा माने जाने वाले पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के पुत्र चौधरी अजित सिंह का प्रभाव पश्चिमी उत्तर प्रदेश में खासा रहा है।

वह अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय गठबंधन (राजग) सरकार में कृषि मंत्री के पद पर रहे जबकि 2011 में कांग्रेस के नेतृत्व वाली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार ने उन्हे नागरिक उड्डयन मंत्री का पद दिया।

छोटे चौधरी के नाम से मशहूर चौधरी बागपत से सात बार सांसद रहे है। वह आईआईटी खड़गपुर के छात्र रहे है जबकि अमरीका के शिकागो स्थित प्रौद्योगिकी संस्थान से उन्होंने आगे की पढाई की। इससे पहले उन्होने लखनऊ विश्वविद्यालय से बीएससी की डिग्री हासिल की। उन्होंने अमरीका में 17 वर्षों तक विश्व विख्यात आईटी कंपनी आईबीएम में कार्य किया और 1980 में वह पिता चरण सिंह का साथ देेने वापस भारत आए।

चौधरी अजीत सिंह की पार्टी रालोद ने हाल ही में सम्पन्न पंचायत चुनाव में समाजवादी पार्टी (सपा) के साथ मिलकर शानदार प्रदर्शन किया था।